अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग से पहले इमरान खान को पंजाब में झटका, CM के लिए PTI के बागी नेताओं का विपक्ष को समर्थन

पाकिस्तान की सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेता जहांगीर खान तारीन ने शनिवार को घोषणा की है कि वह पंजाब के मुख्यमंत्री पद के लिए विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन (पीएमएल-एन) के नेता हमजा शाहबाज का समर्थन करेंगे।

इसे अविश्वास प्रस्ताव से पहले प्रधानमंत्री इमरान खान के लिए एक झटके के रूप में देखा जा रहा है। पूर्व वरिष्ठ पीएमएल-एन नेता और वित्त मंत्री इशाक डार के बीच पीटीआई से बागी तेवर अपना चुके नेता तरीन के साथ लंदन में हुई बातचीत के बाद हुई। जियो टीवी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि दोनों पक्षों ने प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान की सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ रविवार को होने वाले अविश्वास प्रस्ताव के लिए आगामी मतदान पर चर्चा की और पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री के चुनाव पर भी चर्चा की।

इस बीच, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-क्यू (पीएमएल-क्यू) के नेता मूनिस इलाही के सभी प्रयास व्यर्थ गए। वे चाहते थे कि तहरीन पंजाब के सीएम के रूप में परवेज इलाही का समर्थन करें।

जियो टीवी के अनुसार, तरीन की घोषणा से कुछ ही मिनट पहले मूनिस ने तारीन और अन्य सांसदों के साथ चार घंटे की लंबी बैठक की। लेकिन बैठक सकारात्मक नोट पर समाप्त नहीं हुई।

पंजाब प्रांत में पीटीआई द्वारा पीएमएल-क्यू को समर्थन देने की घोषणा के बाद पंजाब प्रांत के राज्यपाल चौधरी मोहम्मद सरवर ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार का इस्तीफा स्वीकार कर लिया। जियो टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, इस्तीफे की स्वीकृति के बाद पंजाब कैबिनेट को भंग कर दिया गया था।

संयुक्त विपक्ष ने पंजाब विधानसभा में मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था, जिसमें कहा गया था कि वे उनके प्रदर्शन से असंतुष्ट हैं। जियो टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, सरवर ने अपना अंतिम निर्णय लेने से पहले इमरान खान से मंजूरी मांगी। सूत्रों ने कहा कि उन्होंने सदन के नए नेता का चुनाव करने के लिए आज (2 अप्रैल) पंजाब विधानसभा का एक सत्र बुलाया है।