आज चांद दिखने की उम्मीद, कल से रोजा

किशनगंज। रहमत बारकत व इबादत का पाक व मुकद्दस माह रमजान-उल-मुबारक का चांद आज (शनिवार) को देखे जाने की उम्मीद है। कलेंडर के अनुसार आज शनिवार को चांद दिखने की पूरी उम्मीद है। चांद दिखने या खबर होते ही मुस्लिम समुदाय के लोग अकीदत के साथ अगले दिन से रोजा रखेंगे।

रमजान महीने के आगमन को लेकर मुस्लिम समुदाय के लोग खास कर बच्चे एवं युवा पीढ़ी में खासा उत्साहित हैं। लोग रोजे की तैयारी में जुट गए हैं। नमाज एवं इबादत के लिए मस्जिद में नमाजियों का हुजूम उमड़ता दिखाई देने लगा है। मौलाना इनतखाबुर रहमान ने कहा कि माह -ए-रमजान का चांद देखने का एहतेमाम शनिवार को भी किया जाएगा। चांद का दीदार (देखना) या देखे जाने की खबर मिलने पर रविवार से पहला रोजा रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि चांद का दीदार या खबर वाले शाम से ही माह-ए-रमजान में पूरे रमजान में 20 रिकात पढ़ी जाने वाली तराहवी की नमाज मस्जिदों में पढ़नी शुरू हो जाएगी। तराहवी कि नमाज अदा करने के लिए मस्जिदों में जनरेटर , सामियाना व पंडाल की व्यवस्था में लोग जुट गए हैं। माह-ए- रमजान में लोग सिद्दत व अकीदत के साथ मस्जिदों में इबादत पवित्र ग्रन्थ कुरान पाक का तिलावत के अलावा पंजगाना नमाजियों की भीड़ कई गुना बढ़ जाती।मौलाना इंतेखाबुर रहमान ने कहा रमजान-उल-मुबारक के मुकद्दस माह में एक नेकी का सत्तर गुणा शवाब मिलता है। रोजा का मतलब है सुबह फज्र जी अजान से पहले सहरी खा लेने के बाद गुरुब-ए-आफताब (सूरज डूबने)तक ना सिर्फ खाने-पीने से रुकना, बल्कि झूठ से भी बचना।माह -ए- रमजान को लेकर बाजार में रौनक बढ़ गई है। लोगों ने सेहरी और इफ्तारी के लिए खरीदारी शुरू कर दी है। चांद के दीदार होने के साथ रविवार को पहला रोजा होगा। जिले में ग्रामीण क्षेत्र से लेकर शहर तक में रमजान माह की तैयारियां पूरी की जा रही हैं।