यूपी में बदलेगा सियासी कलेवर: बीजेपी-कांग्रेस-RLD और आप को नए प्रदेश अध्‍यक्ष की तलाश

यूपी के सियासी दलों भाजपा, कांग्रेस के साथ ही रालोद और आम आदमी पार्टी को नए प्रदेश अध्यक्षों की तलाश है। मिशन-2024 की रणनीति बनाने के मद्देनज़र जहां इन अध्यक्षों की भूमिका अहम होगी। वहीं पार्टी नेतृत्व के लिए भी नेता का चयन चुनौतीपूर्ण बना हुआ है। भाजपा में इसे लेकर जहां मंथन जारी है तो कांग्रेस, रालोद व आप भी नए चेहरे की तलाश में हैं।

ब्राह्मण को चुने या दलित बनाएं, मंथन में उलझी भाजपा

भाजपा के मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को पार्टी ने विधानसभा चुनावों में जीत का तोहफा देते हुए कैबिनेट मंत्री बना दिया है। नतीजतन, एक व्यक्ति एक पद के सिद्धांत पर अमल करते हुए पार्टी को जल्द ही प्रदेश अध्यक्ष बदलना है। पार्टी लोकसभा चुनावों में ब्राह्मण चेहरे के साथ चुनाव में उतरती रही है जबकि विधानसभा चुनावों में ओबीसी चेहरे पर दांव लगाया जाता रहा है। पार्टी सूत्रों की मानें तो संगठन मंथन में जुटा है कि इस बार अध्यक्ष किसे बनाया जाए। पार्टी का मानना है कि विधानसभा चुनाव में दलितों ने पार्टी को जमकर वोट दिया। भाजपा का कुछ ओबीसी वोट मसलन, कुर्मी पार्टी से छिटके भी।