पुलिस इनकाउंटर में मारे गए सैफुल्लाह के घर पहुंचे मौलाना रशादी

कानपुर, यूपी

राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी अचानक कानपुर पहुंचे और लखनऊ में यूपी पुलिस की मुठभेड़ में मारे गए सैफुल्लाह के घर वालों से मुलाकात की। इन दौरान मौलाना आमिर रशादी ने कहा कि चुनाव के मद्देनज़र ये फर्ज़ी पुलिस मुठभेड़ कराई गई है ताकि सका फायदा बीजेपी और सपा को पहुंचाया जा सके।

मौलाना आमिर रशादी ने बताया कि जो खबरे सैफुल्लाह के पिता की तरफ से आ रही हैं वो बिल्कुल उल्टी हैं। सैफुल्लाह के पिता इस घटना से बिल्कुल टूट चुके हैं। नसा साफ माना है कि उनके बेटे को सक के आधार पर राजनीतिक लाभ के लिए कत्ल किया गया है। मौलाना रसादी ने कहा कि उनकी पार्टी सैफुल्लाह के परिवार की हर मुमकिन मदद करेगी और एटीएस के जुलम के खिलाफ लड़ी लडेगी।

मौलाना आमिर रशादी ने सैफुल्लाह के पिता से अकेले में काफी देर तक बात की। इस मुलाकात के बाद मौलाना रशादी ने कहा कि सैफुल्लाह के पिता पर भारी दबाव है। हम उनके सात हर वक्त खड़े हैं। उन्होंने कहा कि इसका दर्द क्या होता है ये बात सिर्फ वहीं महसूस कर सकते हैं। मौलाना आमिर रशादी के साथ पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह, युवा अध्यक्ष नुरुल हुदा, मोहम्मद नसीम पार्टी के कानपुर के पदाधिकारी शामिल थे।