लखनऊ और उन्नाव RSS कार्यालय को बम से उड़ाने की धमकी मामले में मड़ियांव थाने में FIR

लखनऊ। लखनऊ और उन्नाव में आरएसएस कार्यालय को बम से उड़ाने की धमकी देने के संबंध में मड़ियांव थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। लखनऊ पुलिस ने बताया कि एक व्हाट्सएप मैसेज में आरएसएस के कार्यालयों को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। यह मैसेज कल यानी सोमवार रात को 8 बजे भेजा गया था। मामले की जांच कर रही साइबर सेल मैसेज भेजने वाले नंबर को ट्रेस करेगी। सुलतानपुर जिले के एक डिग्री कालेज के प्रोफेसर को मोबाइल पर मैसज कर अलीगंज स्थित आरएसएस कार्यालय को उड़ाने की धमकी दी गई थी।

बता दें कि सोमवार रात को आरएसएस के कार्यालय को बस से उड़ाने की धमकी दी गई। धमकी देने वालों ने कर्नाटक में भी पांच स्थानों पर धमाके करने की धमकी दी। पुलिस का कहना है कि आरोपी के काफी करीबी पहुंच गई है। एक टीम जांच करने के लिए रवाना कर दी गई है। एटीएस व अन्य खुफिया एजेन्सी भी सक्रिय हो गई है।

मड़ियांव पुलिस के मुताबिक प्रोफेसर डॉ. नीलकंठ पुजारी ने एफआईआर लिखवाई कि दो दिन पहले एक शख्स ने अपने मोबाइल नंबर से उन्हें मैसेज किया कि उनके ग्रुप में वह जुड़ जाये। फिर उस शख्स ने लिंक भेजा। इसके जरिये डॉ. नीलकंठ उसके बताये ग्रुप पर जुड़ गये। दूसरे दिन ही यानी रविवार को ग्रुप पर ही उन्हें धमकी दी गई कि अलीगंज स्थित सरस्वती मंदिर स्कूल में बने आरएसएस कार्यालय को बम से उउ़ा दिया जायेगा। यही नहीं मैसेज करने वाले शख्स ने यह भी लिखा कि कनार्टक में भी उनकी टीम पांच स्थानों पर धमाके करेगी।

पुलिस अफसरों के मुताबिक आरोपित के बारे में काफी सुराग मिल गये हैं। जल्दी ही उसे गिरफ्तार कर लिया जायेगा। इससे पहले मोबाइल व कन्ट्रोल रूम में मैसेज कर कुछ लोग सीएम व सरकारी इमारतों को उड़ाने की धमकी पहले भी कर चुके हैं। इनसें से चार मामलों में पुलिस आरोपित को जेल भेज चुकी है। एसीपी अलीगंज सै. अली अब्बास ने बताया कि इस प्रकरण में रविवार को मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। जांच की जा रही है।