मुस्लिम फेरीवालों से सामान खरीदने पर लगेगा जुर्माना, गुजरात में वायरल लेटर का जानिए सच…

उदयपुर में निर्मम हत्याकांड की चर्चा अभी पूरे देश में हो रही है। इस बीच गुजरात के बनासकांठा में ग्राम पंचायत का एक लेटर पैड सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस लेटर पैड में उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के विरोध में मुस्लिम फेरीवालों से सामान नहीं खरीदने की हिदायत दी गई है। इस लेटर पैड पर एक हस्ताक्षर भी है। लेटर पैड में आगे कहा गया है कि अगर कोई दुकानदार मुस्लिम व्यापारियों से सामान लेते हुए पाया गया तो उस पर 5100 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। जुर्माने की राशि का इस्तेमाल गोशाला में होगा।

अब इस मामले में बनासकांठा जिला प्रशासन की तरफ से एक बयान जारी किया गया है। इसमें वाघासन ग्राम पंचायत प्रशासक आरआर चौधरी के हवाले से बताया गया है कि वाघासन ग्राम पंचायत को विभाजित किया गया है और वाघासन ग्राम पंचायत को अलग कर दिया गया है। यह लेटर पैड मौजूदा वाघासन ग्राम पंचायत द्वारा नहीं लिखा गया है और ना ही पंचायत इस समर्थन करता है।

वहीं बनासकांठा जिला विकास अधिकारी स्वप्निल खरे ने कहा कि जिस शख्स ने इस वायरल लेटर पैड पर हस्ताक्षर किए हैं, उन्हें ऐसा करने का कोई अधिकार ही नहीं है। यह पंचायत अभी प्रशासक के अधीन है और वहां अभी सरपंच पद का चुनाव भी होना है।प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह पत्र निराधार है। किसी भी शख्स को इसमें जारी किये गये फरमान को मानने की जरुरत नहीं है। पत्र को लेकर अफवाह फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।