खामोशी के साथ कौमी एकता दल का धमाकेदार प्रदर्शन

पंचायत चुनाव में पार्टी को पूर्वांचल में मिली शानदार सफलता

लखनऊ/गाज़ीपुर, यूपी

कौमी एकता दल ने प्रदेश में संपन्न हुए पंचायत चुनाव में शानदार सफलता हासिल है। पार्टी ने पूर्वांचल के कई ज़िलों में करीब 16 सीटों पर शानदार जीत दर्ज की है। कौमी एकता दल को ये सफलता गाज़ीपुर, मऊ, इलाहाबाद, बलिया, आज़मगढ़ और प्रतापगढ़ में हासिल हुई है।

कौमा एकता दल ने अपने गढ़ गाजीपुर में सात सीटों पर जीत हासिल की हैं। पार्टी को मोहम्मदाबाद में भी सफलता मिली है, जहां से पार्टी के विधायक सिबगतुल्लाह अंसारी हैं। पार्टी की उम्मीदवार रीता यादव मोहम्मदाबाद एक से, रंजना यादव मोहम्मदाबाद दो से, सरोज राम भावरकोल एक से, प्रताप यादव भावरकोल 4 से जीत मिली है, जबकि सुभाष सिंह यादव बिरनो से, पावित्री देवी कमसाबाद से और जमाल खान भदौरा से जीत दर्ज की है।

इलाहाबाद में पार्टी को तीन सीटों पर सफलता मिली है। वार्ड नंबर 83 से दिनेश पासी, वार्ड नंबर 84 से शकुंतला पटेल और वार्ड नंबर 91 से चंद्रकला ने जीत हासिल की है। इलाहाबाद में पार्टी को मिली सफलता के कई मायने निकाले जा रहे हैं। मऊ में पार्टी को तीन सीटें मिली हैं। यहां से मुख्तार अंसारी पार्टी के विधायक हैं। आज़मगढ़ के बेरमा से शहजाद खान, बलिया के नगरा से रामजी यादव और प्रतापगढ़ से रईस अहमद ने भी जीत हासिल की है।

क्रम संख्या ज़िला जीती सीट
1 गाज़ीपुर 7
2 मऊ 3
3 इलाहाबाद 3
4 बलिया 1
5 आज़मगढ़ 1
6 प्रतापगढ़ 1

राज्य के पंचायत चुनाव में इस बार कौमी एकता दल ने विशेष रणनीति के तहत कुछ ही सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए थे। दरअसल पार्टी के बड़े नेताओं का मानना था कि जीत की संभावनाए वाली सीट पर ही वह मजबूती के साथ चुनाव लड़ेंगे। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अफज़ाल अंसारी ने इसके लिए खास रणनीति बनाई था। पूर्व सांसद अफज़ाल अंसारी पूर्वांचल की राजनीति उन चंद नेताओं में शामिल है, जो जमीनी तौर पर रणनीति बनाने के लिए जाने जाते हैं।

पार्टी ने इस बार चुनाव में युवाओं को खास तरजीह दी। ज़्यादातर सीटों पर दावेदारी भी युवाओं ने की थी। इसे देखते हुए पार्टी ने जीत की संभावित सीटों पर युवाओं को टिकट देने में ज़्यादा दिलचस्पी दिखाई। टिकट में तरजीह मिलने के बाद पार्टी ने युवा विंग ने पंचायत चुनाव में जी-तोड़ मेहनत की। युवा विंग के नेताओं ने उम्मीदवारों के पक्ष में ज़ोरदार प्रचार अभियान चलाया। वहीं पार्टी के बड़े नेताओं ने जमीनी स्तर पर काम करते हुए रणनीति बनाई। इसका नतीजा ये रहा कि पार्टी को पंचायत चुनाव में अच्छी सफलता मिली।

पार्टी के लखनऊ ज़िला अध्यक्ष डॉ शहज़ाद आलम ने बताया कि पंचायत चुनाव में मिली सफलता कार्यकर्ताओं के लिए काफी महत्व रखती है। उन्होंने कहा कि लोक सभा चुनाव में हम कई सीटों पर अच्छी तरह लड़े थे, लेकिन सफलता नहीं मिल पाई थी। डॉ शहज़ाद ने कहा कि इस जीत की एनर्जी से हम लोग साल 2017 के विधान सभा चुनाव के लिए ज़ोरदार तरीके से मैदान में आएंगे।

3 COMMENTS

  1. युवा शक्ति युवा जोश इक नई सोच

    फ़ैज़ रिज़वी युवा नेता क़ौमी एकता दल वाराणसी

Comments are closed.