बैकफुट पर आए मौलाना तौकीर, बताया 10 जून को क्यों नहीं करना चाहते विरोध-प्रदर्शन

10 जून को बरेली के इस्लामिया कॉलेज मैदान में धरना प्रदर्शन करने का ऐलान के बाद मौलाना तौकीर अब बैकफुट आ गए हैं। मौलाना तौकीर ने 10 जून को होने वाले प्रदर्शन को फिलहाल टाल दिया है। प्रदर्शन टाले जाने के पीछे मौलाना तौकीर ने इसकी वजह भी बताई। आईएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रजा ने बताया, मौलाना गंगा स्नान की वजह से प्रदर्शन स्थगित किया कर दिया गया है। उन्होंने बताया आईएमसी कार्यकर्ता 10 जून को प्रशासन को ज्ञापन देंगे। उन्होंने मुसलमानों से अपील करते हुए कहा कि 10 जून को जुमा नमाज पढ़कर इस्लामियां ग्राउंड न आए, सीधे घर जाएं। प्रेस कांफ्रेंस करके मौलाना ने कहा जल्द ही प्रदर्शन की अगली तारीख तय की जाएगी। शांति व्यवस्था बनी रहे इसलिए कार्यक्रम को स्थगित किया।

बतादें कि आईएमसी अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खां ने 10 जून को बरेली के इस्लामियां कालेज मैदान में धरना-प्रदर्शन करने का ऐलान किया था।  उन्होंने कहा था कि पैगंबर ए इस्लाम की शान में गुस्ताखी करने वाली भाजपा की प्रवक्ता नुपुर शर्मा की गिरफ्तार हो जाती है तो वह धरना प्रदर्शन का ऐेलान वापस ले लेंगे। उन्होंने मस्जिदो से ऐलान करवाकर भारी संख्या में कालेज मैदान पर इकट्ठे होने की लोगों से अपील भी की थी।

मौलाना के ऐलान के बाद डीएम ने शहर में लगाई थी धारा 144

10 जून को मौलाना तौकीर रजा के प्रदर्शन को लेकर ऐलान के बाद डीएम ने शनिवार को शहर में धारा 144 लागू कर दी थी। धारा तीन जुलाई तक लागू रहेगी। जबकि प्रदर्शन दस मार्च को होना था। शुक्रवार रात को वीडियो कांफ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री ने बरेली के अफसरों से सीधी बात की थी। उन्होंने कहा था कि कुछ भी करिये लेकिन बरेली में कानपुर जैसी घटना नहीं होनी चाहिये। मुख्यमंत्री ने बरेली के अफसरों की ढिलाई पर नाराजगी भी व्यक्त की थी। उन्होंने कहा था कि बरेली में आये दिन धरना प्रदर्शन की चेतावनी क्यों होती है। डीएम ने पुलिस प्रशासन कानून व्यवस्था और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वालों से सख्ती से निपटने के आदेश भी दिए थे।