कप्तान नहीं दबंग चला रहा है जौनपुर का खेतासराय थाना !

KHETASARAI POLICE AND PARAKAMAL 1 211118

जौनपुर, यूपी

एक तरफ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून-व्यवस्था लेकर सख्त नज़र आ रहे हैं तो दूसरी तरफ उन्हीं की पुलिस पर उनकी सख्ती का असर नहीं दिख रहा है। पुलिस को जहां पीड़ितों के साथ खड़े होकर उन्हें न्याय दिलाना चाहिए पर वो दबंगों के साथ खड़े होकर पीड़ितों पर जुल्म कर रही हैं और अवैध कमाई में व्यस्त है।

ताज़ा मामला जौनपुर का है जहां का खेतासराय थाना वैसे तो कई मामलों को लेकर हमेशा चर्चित रहता है। ये थाना ज़िले के सबसे ज़्यादा कमाऊ थाने के रूप में जाना जाता है। यहां पर पोस्टिंग के लिए थानेदार कई तरह की जुगत लगाते हैं। अब ये थाना नये मामले को लेकर चर्चित है। दरअसल आरोप है कि इस थाने पर एक स्थानीय दबंग की खूब चलती है। इसके एक इशारे पर जहां थानाध्यक्ष विरोधियों पर दर्जनों धाराएं लाद देते हैं वहीं क्षेत्र में अवैध कब्ज़े से लेकर किसी को जेल भेजने तक इन दबंग की खूब चलती है।

वर्तमान में तैनात थानाध्यक्ष अपने ढीले रवैये को लेकर काफी मशहूर हैं। उनका अब तक के कार्यकाल में कई बड़े विवाद हो चुके हैं। अभी हाल में जैगहां गांव में दो पक्षों में मारपीट उनकी ढीलाई के कारण ही हुई थी। दरअसल एक पक्ष ने पहले से ही मारपीट होने की संभावना व्यक्त करते हुए तहरीर दे रखी थी लेकिन थानाध्यक्ष ने कोई कार्रवाई नहीं की। नतीजा दो पक्ष आमने-सामने आ गए और क्षेत्र में तनाव पैदा हो गया। पर अगर मामला उस दबंग का हो तो थानाध्यक्ष दौड़ते हुए पहुंचे जाते हैं।

खेतासराय का महत्व
ऐतिहासिक पृठष्ठभूमि लिए ये बाज़ार काफी चर्चित है। यहां आसपास के सैकड़ों गांव के लोग खरीददारी करने आते हैं। सरकार को इस बाज़ार से लाखों का राजस्व प्राप्त होता है। पर इसके इतर ये इलाका अवैध कारोबार के लिए भी जाना जाता है। चाहे डग्गामार वाहनों का संचालन हो या फिर ज़मीनों पर अवैध कब्ज़ा, ये अवैध कारोबार यहां काफी फल-फूल रहा है। दरअसल इसकी पीछे की वजह पुलिस का ढीला रवैया है।

कौन है दबंग
इसी थाना क्षेत्र के पाराकमाल गांव का रहने वाला एक दबंग अपनी दबंगई की वजह से क्षेत्र में चर्चा में बना हुआ है। बड़ी गाड़ियों का शौकीन दबंग खाड़ी देशों में काफी साल रहने बाद अब उसने अपना ठिकाना खेतासराय बनाया है। आरोप है कि खाड़ी देशों से अवैध रूप से उसने काफी कमाई की। स्थानीय लोग ये भी आरोप लगाते हैं कि इस दबंग ने खाड़ी के देशों में करोड़ों का गबन किया और फिर वहां से फरार होकर वापस आ गया। मौजूदा समय में वो हवाला कारोबार से जुड़ा है और दबंगई करके ज़मीन का कारोबार करता है। वैसे ये दबंग अपने आपको समाजसेवी बताता फिरता है।

दबंग पर है दर्जनों आरोप
स्थानीय लोग दबी ज़बान में स्वीकार करते हैं कि इस दबंग ने कई गरीबों की ज़मीन दबंगई के आधार पर हासिल कर ली। आरोप है कि इस काम में स्थानीय थाना ने इसका पूरा साथ दिया। लोगों की माने तो खेतासराय थाना परिसर में इस दबंग ने लाखों रुपये खर्च करके थाने की पेंटिंग, लाइटिंग से लेकर एसी कूलर तक का प्रबंध किया है। आरोप यहां तक है कि वह थाने में तैनात प्रभारियों को महंगे और विदेशी गिफ्ट भी लगातार देता रहता है। इसकी एवज़ में वो आये दिन मासूम लोगों को फ़र्ज़ी मुकदमे में फंसाता है तो कभी उन्हें और थाने बन्द करवा कर अपमानित कराता है।

आरोप है कि करीब एक दर्जन लोगों की ज़मीनों पर अब तक कब्ज़ा कर चुका है। यहीं नहीं अब तक लगभग 34 लोगों के खिलाफ ये अलग-अलग मामला दर्ज करवा चुका है। इनमें से कई लोगों को जेल तक जाना पड़ा है। आरोप है कि इस काम में थानाध्यक्ष जगदीश कुशावाह से लेकर इससे पहले का थानाध्यक्षों ने इसकी खूब मदद की और मलाई काटी।

हूटर लगी गाड़ी का इस्तेमाल
स्थानीय पुलिस की शह पर यह दबंग खुलेआम अपनी गाड़ियों में हूटर बजाते हुए चलता है। उसके खौफ से लोग रास्ते से हट जाते हैं। इस दबंग से पीड़ित लोग पाराकमाल से लेकर गुरैनी तक के गांव शामिल हैं।

जनता ने की कार्रवाई की मांग
स्थानीय जनता ने मुख्यमंत्री लेकर ज़िलाधिकारी और पुलिस कप्तान से इस दबंग के खिलाफ जांच कराने की मांग है। साथ ही जनता ने ये भी मांग की है कि यहां पर तैनात रहे थानेदारों का इस दबंग से रिश्ते और उनकी अवैध कमाई की जांच हो और उन पर कड़ी कार्रवाई हो। यहीं नहीं लोगों ने इसके दुबई कनेक्शन की जांच की भी मांग की है। स्थानीय लोगों ने कहा है कि अगर अधिकारियों ने इस पर ध्यान नहीं दिया तो क्षेत्र में कभी भी कोई घटना हो सकती है।