जामिया में दर्जनों मुस्लिम तंजीमें फिर भी डेंगू से मौत- मुन्ने भारती

मुन्ने भारती की फेसबुक वाल से

नई दिल्ली
दिल्ली के जामिया नगर में कई बड़ी मुस्लिम तंज़ीमों के हेड क़्वार्टर मौजूद है। ये तंजीमें पूरी दुनिया में हिन्दोस्तानी मुसलमानों के हक़ की लड़ाई लड़ने का दावा करते नहीं थकती हैं। मुसलमानों के नाम पर विदेश से वो खूब नवाज़े भी जाते है, जिससे लंबी-लंबी स्कीम लागू करके वाहवाही लूट रहें है।

अफसोस ये है मुसलमानों के नाम पर अपनी-अपनी दुकान चलाने वालों के हेड क़्वार्टर की चहारदीवारी के आसपास रहने वाले जामिया नगर के लोग डेंगू से मर रहे है। पूरा इलाक़ा दहशत ज़दा है.. और एक तंज़ीम सेमिनार करके अपनी पीठ थपथपाते नहीं थक रही है।

क्या इनकी ज़िम्मेदारी नहीं बनती कि ये लोग प्रशासन पर दबाव बनाये, तंज़ीम की तरफ से कैम्प लगाएं। लोगों को सहुलियते मुहैय्या कराएं। सिर्फ ऑफिस की चहारदीवारी में मुसलमानों के लिए योजनाएं ही बनती रहती है और प्रेस कॉन्फ्रेंस कर वाहवाही लूट ली जाती है। एक बड़ा सवाल ये भी है कि आखिर आजतक इनके बुलावे पर हिंदी और इंग्लिश मीडिया क्यों नहीं आती है। दरअसल इन मीडिया को मालूम है इनकी हकीकत। क़ौम को इनसे होशियार रहने की ज़रुरत है।
आप का
एम् अतहरउद्दीन उर्फ़ मुन्ने भारती
Social worker
Twitter@munnebharti
Facebook Page @M.Atharuddin Munne bharti