परिवहन विभाग में भ्रष्टाचार पर सख्त कार्रवाई: यासर शाह

लखनऊ, यूपी

प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री यासर शाह ने परिवहन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को समाप्त करने के कड़े निर्देश दिए हैं। उन्होंने विभागीय समस्याओं और परेशानियों को जल्द निपटारा करने के भी निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए। उन्होंने अधिकारियों को अच्छा काम करने की नसीहत दी ताकि विभाग की प्रगति अच्छी हो। इसके साथ काम ना करने वाले और लापरवाह अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की भी बात कही।

परिवहन राज्यमंत्री यासर शाह आज बापू भवन में परिवहन विभाग की मासिक बैठक कर रहे थे। उन्होंने सरकार की प्राथमिकताओं के देखते हुए यात्रियों को बेहतर परिवहन सेवा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए, जिसमे परिवहन निगम की बसों में वृद्धि, यात्री सेवाओं का उच्चीकरण और आधुनिक तकनीकों के उपयोग पर बल दिया। परिवहन मंत्री ने कहा कि जनजागरूकता फैलाकर लोगों को निजी वाहन की जगह सार्वजनिक वाहन का ज़्यादा इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित किया जाय। सार्वजनिक वाहनों की गुणवत्ता को बढ़ाकर यात्रियों के लिए अधिक से अधिक सुविधाजनक बनाया जाय।

यासर शाह ने विभाग के राजस्व वसूली के लक्ष्य को सौ फीसदी पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रदेश में संचालित रेडियो टैक्सी की गुणवत्ता को मानक के अनुरूप बढ़ाकर यात्रियों के लिए इसे और अधिक सुविधाजनक बनाये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने दीपावली के पर्व पर यात्रियों की सुविधा के लिए लगभग 2000 बसों का अतिरिक्त संचालन करने और बस स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं की व्यवस्था को मज़बूत करने के निर्देश दिए। उन्होंने विभागीय कार्यालयों, बस स्टेशनों और कार्यशालाओं पर बिजली की बचत के लिए एलईडी लाइट का इस्तेमाल करने के भी निर्देश दिए।
विभाग के प्रमुख सचिव कुमार अरविन्द सिंह देव ने विभागीय योजनाओं, कार्यक्रमों तथा राजस्व वसूली में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने विभागीय मंत्री को आश्वस्त किया कि यात्रियों को हरहाल में बेहतर परिवहन सुविधाएं उपलब्ध करायी जायेगी।
बैठक के दौरान परिवहन आयुक्त के रवीन्द्र नायक ने बताया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में विभाग का 4800 करोड़ रूपये का राजस्व अर्जित करने का लक्ष्य है। अक्टूबर, 2015 तक 2.27 करोड़ वाहनों से 2358.15 करोड़ रूपये का राजस्व अर्जित किया गया। वाहनों का रजिस्ट्रेशन, फिटनेस, टैक्सेशन, यात्रियों को परमिट जारी करने तथा मालवाहक वाहन सम्बन्धी सभी कार्य सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अक्टूबर, 2015 तक 59 लाख स्मार्ट कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस सॉफ्टवेयर के माध्यम से जारी किये जा चुके हैं। लोगों को आवश्यक जानकारी प्राप्त करने तथा शिकायत दर्ज कराने के लिए 24 घंटे टोल फ्री नम्बर 1800-1800-151 संचालित है।
आयुक्त नायक ने बताया कि प्रदेश के सभी बस स्टेशनों पर यात्रियों के लिए शुद्ध पेयजल हेतु वाटर एटीएम चारबाग, कैसरबाग (लखनऊ) में लग चुका है। अजमेरी गेट, कानपुर, आगरा, झांसी में इसके लिए कार्य प्रगति पर है। बैठक में उत्तर प्रदेश परिवहन निगम, परिवहन आयुक्त कार्यालय और शासन के विभागीय उच्च अधिकारी मौजूद थे।