हक की बात कहने पर इतना हंगामा क्यों: ओवैसी

‘पंजाब में प्रकाश सिंह बादल के कहने से फांसी की माफी क्यों’

किशनगंज, बिहार

एमआईएम के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि हम हक की बात करते हैं कि तो तथाकथित लोग हो-हल्ला मचाते हैं। उन्होंने सवाल किया कि जब मैंने याकूब मेमन की फांसी को उम्र कैद में बदलने की वकालत की तो देश में हायतौबा मच गया लेकिन पंजाब के एक हत्यारोपी रजोना की फांसी की सज़ा सीएम प्रकाश सिंह बादल के कहने पर उम्र कैद में तब्दील कर दी जाती है। ऐसा क्यों ? सांसद असदुद्दीन ओवैसी आज किशनगंज में एमआईएम उम्मीदवार के पक्ष में रैली को संबोधित कर रहे थे।

एमआईएम की ये चुनावी रैली सर सैयद चौक ग्राउंड, लहरा में आयोजित की गई थी। इस रैली के बाद एमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान अपना नॉमिनेशन करने पहुंचे। आज की रैली में अच्छी भीड़ जुटी। एमआईएम के बिहार के कई उम्मीदवार इस रैली में नज़र आए।

121015 ASADUDDIN KISHANGANJ RALLY 1

एमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने रैली के शुरुआत में कहा कि पिछले दिनों बिहार की रैली में मेरे भाई ने जज़्बात में आकर कुछ ऐसी बातें कही जो कई लोगों को ख़राब लगी। असदुद्दीन ओवैसी ने सहा कि वह ऐसी कोई बात नहीं कहेंगे। पार्टी अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि जब मैं हक की बात करता हूं तो सब कहते हैं कि मैं दुनियां का सबसे खराब इंसान हूं। हक की बात करना अगर खराब इंसान कहलाता है, तो हां… मै खराब इंसान हूं।

ओवैसी ने कहा कि मुझे भी थोड़ी कानून की जानकारी है, और मैं जो भी बात करता हूं कानून के दायरे में रहकर करता हूं। मैं कानून की दिल से इज़्ज़त करता हूं। रैली में ओवैसी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि वे देश में डिज़िटल इंडिया की बात करते हैं, और सीमांचल के लोग आयरन वाला पानी पीते हैं। क्या इससे विकास होगा। सीमांचल के लोगों के इलाज कराने के लिए इस इलाके में अच्छे अस्पताल नहीं है, और ना ही बिहार के अन्य जिलों के तरह यहां बड़े स्कूल हैं। ओवैसी ने सवाल किया कि ऐसा क्यों है ?

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि विकास की बात होनी चाहिए लेकिन लाशों के ढ़ेर पर नहीं चलना है। इस मुल्क में नौजवानों की समस्याओं पर बात होनी चाहिए लेकिन यहां गोश्त की बात हो रही है। इसे लेकर एख़लाक की हत्या कर दी गई जिसके परिवार से मिलने मैं गया था। पीएम नरेंद्र मोदी क्यूं नहीं गए। वे देश के पीएम हैं उनसे लोगों की उम्मीद है। आरक्षण पर बोलते हुए कहा कि आरएसएस आरक्षण को छीनना चाहती है। उन्होंने कहा कि एनडीए में सत्ता की चाभी संघ के पास है और जो संघ परिवार कहेगा, बीजेपी वही करेगी।

 

लालू प्रसाद और नीतीश कुमार पर भी हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि सीमांचल के लोगों के साथ 68 वर्षो से नाइंसाफी की जा रही है। इसी नाइंसाफी के खिलाफ हक की लड़ाई के लिए मैंने अपने उम्मीदवार सीमांचल में उतारा है, ताकि सीमांचल को उसका हक मैं दिला सकूं। इसके लिए 100 फीसदी मतदान जरूरी है। रैली में जुटी भीड़ से ओवैसी काफी खुश दिखे।

चुनावी रैली को एमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान, किशनगंज विधानसभा प्रत्याशी तसीरउद्दीन, एमआईएम के विधायक मुमताज अहमद खां, मोअज्जम खां ने भी संबोधित किया।