UP Election 2022: कांग्रेस-सपा ने दलितों, भाजपा ने मुसलमानों की अनदेखी की: मायावती

सपा और कांग्रेस पर दलित पिछड़ों और आदिवासियों की उपेक्षा करने और भाजपा पर मुस्लिम अल्पसंख्यकों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि उनकी पार्टी सही मायनों में समाज के दलित, वंचित और उपेक्षित वर्गो को साथ लेकर चली है। कहा कि सरकार बनने पर गरीब और मजदूर समाज को रोटी रोजी के साधन दिए जाएंगे।

मिर्जापुर में मंगलवार को जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस इलाके को मुख्य धारा से नहीं जोड़ने के कारण नक्सलवाद पनपा। आदिवासियों का भी बड़े पैमाने पर शोषण हुआ। बसपा की सरकार बनने पर आदिवासी क्षेत्र को विकसित किया गया।

कहा कि डॉ अंबेडकर ग्राम विकास योजना के तहत गांवों का विकास हुआ। स्कूल, सड़क के निर्माण के साथ बड़े पैमाने पर लोगों को रोटी-रोजी के साधन दिए। सोनभद्र और आसपास के सभी इलाके के आदिवासी लोगों को सही मायने में मुख्यधारा से जोड़ने का काम बसपा ने किया।

उन्होने कहा कि कांग्रेस ने पिछड़े वर्ग के आरक्षण संबंधी मंडल कमीशन की रिपोर्ट को लागू नहीं किया था जिसे बाद में बसपा ने अपने प्रयासों से वीपी सिंह सरकार से इसे लागू कराया था। केंद्र में और अधिकांश राज्यों के सत्ता से बाहर होने पर यही कांग्रेस दलितों, पिछड़ों, आदिवासियों के वोटों की खातिर आए दिन कस्मि कस्मि के नाटकबाजी करती रहती है।

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि सपा सरकार में गुंडों, माफियाओं, लूट-खसोट,अपराध करने वालों का ही राज रहा है। सपा सरकार में प्रदेश में हमेशा तनाव की स्थिति बनी रही है। विकास के कार्य भी सपा सरकार में एक विशेष क्षेत्र और एक विशेष वर्ग के लिए ही किया गया है। बसपा सरकार ने दलित और  पिछड़े वर्गों को जो अनेकों सुविधाएं दी थी सपा सरकार ने उन सभी सुविधाओं और योजनाओं को खत्म कर दिया।