आज़मगढ़ में उलेमा कौंसिल ने मनाया काला दिवस

आज़मगढ़, यूपी

ज़िले में 6 दिसंबर को बाबरी मस्जिद की शहादत के खिलाफ राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल ने मार्च निकाला और काला दिवस मनाया। उलेमा कौंसिल ने शिबली कालेज के पास छात्रों के साथ मिलकर प्रदर्शन किया और बाबरी मस्जिद की शहादत में शामिल मुलज़िमों को सज़ा देने का मांग की।

शहर के तकिया इलाके समेत कई जगह लोगों ने अपनी दुकाने बंद करके विरोध जताया। लोगों ने अपने घरों पर काला झंडा फहराकर विरोध दर्ज कराया। ज़िले के शिब्ली पीजी कालेज के पास उलेमा कौंसिल कार्यकर्ताओं ने बांह पर कालीपट्टी बांध कर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन प्रेषित किया गया।

इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि 6 दिसंबर देश के लिए काला दिन है। इसी दिन कुछ सरफिरे लोगों ने बाबरी मस्जिद शहीद कर दी। पार्टी के प्रवक्ता तलहा रशादी ने कहा कि जो लोग भी इसमें शामिल थे उन्हें सज़ा दी जाए और उसी जगह बाबरी मस्जिद तामीर कराई जाए क्योंकि उस समय देश के पीएम ने मस्जिद बनाने का वादा किया था।

प्रदर्शन में नुरूलहुदा, शकील अहमद, कमाल नासिर, मास्टर तारिक, साबिर, शहबाज़ रशादी समेत दर्जनों लोग शामिल हुए।