यूपी में अपराधियों की सरकार: मौलाना रशादी

इत्तेहाद फ्रंट की बिलरियागंज में तीसरी रैली

आज़मगढ़, यूपी

उलेमा कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने आरोप लगाया कि यूपी में सपा की अपराधियों की सरकार है। उन्होंने कहा कि अखिलेश सरकार में जो जितना बड़ा अपराधी है, वो उतना ही बड़ा समाजवादी है। मौलाना आमिर रशादी आज़मगढ़ के बिलरियागंज कस्बे के बाजार खास मैदान में यूपी इत्तेहाद फ्रंट की तरफ से आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए ये बातें कही।

यूपी इत्तेहाद फ्रंट की तरफ से आयोजित की जाने वाली रैलियों का आज दूसरा दिन था। इस रैलियों का आयोजन राष्ट्रीय उलेमा कौसिंल ने किया है। राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल के अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार मुसलमानों की दुश्मन है। उन्होंने कहा कि मुसलमान आज तक ये बात समझ नहीं पाया और वह समाजवादी पार्टी की माला अपने गले डाले हुए है। मौलाना आमिर रशादी ने मुसलमानों को होशियार करते हुए कहा कि अगर जल्द ही उसकी सोच नहीं बदली तो वह और भी बर्बाद हो जाएगा। ये रैली मुसलमानों की सोच बदलने के लिए ही यूपी इत्तेहाद फ्रंट की तरफ से की गई है। मौलाना आमिर रशादी ने कहा कि मायावती और मुलायम सिंह यादव के पास आय से अधिक संपत्ति होने की जांच हो रही है। सवाल ये है कि इनके पास इतना धन कहां से आया, क्या ये भ्रष्टाचार में शामिल नहीं हैं।

060915-ruc-bilariyaganj-raily-2

परचम पार्टी ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष सलीम परिजादा ने भी रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हमने इस देश के लिए कुर्बानियां दी हैं, आज़ादी की लड़ाई में हज़ारों उलेमा शहीद हुए, लेकिन वोट बैंक की राजनीति के चलते समाज में नफरत की दीवार खड़ी की जारही है और राष्ट्रीय एकता को कमज़ोर किया जा रहा है। ये हमारे मुल्क के लिए सबसे बड़ा खतरा है। यूपी इत्तेहाद फ्रंट गंदी सियासत करने वाली पार्टियों को आगामी चुनाव में सबक सिखाएगी।

इंडियन नेशनल लीग के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो मोहम्मद सुलेमान ने कहा समाजवादी पार्टी की कथनी और करनी में बहुत अंतर है। 2017 के विधानसभा चुनाव के बाद यह लोग भाजपा से हाथ मिलाने में भी गुरेज नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि मुल्क में गंदी सियासत का सफाया करने के लिए यूपी इत्तेहाद फ्रंट का साथ दें। फ्रंट के सत्ता में आने से देश, प्रदेश की दशा और दिशा बदल जाएगी। शोषितों और वंचितों को उनका हक मिलने लगेगा। मोहम्मद सुलेमान ने केंद्र की मोदी सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप हुए कहाकि कि वह कॉरपोरेट्स के लिए काम करने वाली सरकार हो गई है।

वेलफेयर पार्टी ऑफ डिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा सैयद कासिम रसूल ने कहा कि मुसलमानों, गरीबों, शोषितों को उनका हक और इंसाफ दिलाने के लिए इत्तेहाद फ्रंट का गठन किया गया है। डॉ कासिम रसूल ने कहा कि मुसलमान अब किसी पार्टी का गुलाम बनकर न रहें, वह अपनी राजनीतिक अहमियत को समझे। डॉ रसूल ने कहा कि प्रदेश में मुसलमानों की आबादी 19 फीसदी है, फिर भी वह आज भी वहीं है जहां आज़ादी के बाद था। मुसलमानों का न तो विकास हुआ है और न ही वह मुख्य धारा में है। डा कासिम रसूल इलियास ने कहा कि आरएसएस एनसीआरटी से लेकर महत्वपूर्ण विभागों में अपने लोगों को बैठा कर इतिहास ही नहीं बहुत कुछ बदलने की साजिश कर रहा है।

उलेमा कौंसिल के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना ताहिर मदनी ने कहा कि हम यूपी इत्तेहाद फ्रंट के माध्यम से समाज में मोहब्बत के दीप जलाना चाहते है। मौलाना ताहिर मदनी ने कहा कि हम इस फ्रंट के जरिए बताना चाहते है कि इंसानों की सेवा कैसी की जाती है। हमारी लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक गरीबों की झोपड़ी में दीपक नही जल जाएगा।

रैली की अध्यक्षता निजामुद्दीन इस्लाही ने की और संचालन अफजल चमन ने किया। फ्रंट की इस रैली को उलेमा कौंसिल के नेता परमात्मा शरण पांडेय, मौलाना गुलाम मोहम्मद रिजवी, प्रदेश अध्यक्ष निजामुद्दीन समेत कई नेताओं ने संबोधित किया। इस मौके पर तौकीर, आसिफ, जुम्मन खां, ओसामा, नुरूलहुदा मोहम्मद आज़म, मोबिन, मकसूद, जाकिर नोमानी, दिलशाद अहमद, शमीम अहमद, शमीम नोमान, परवेज अहमद समेत हज़ारों कार्यकर्ता मौजूद थे।