मज़हब की बुनियाद पर बने फ्रन्ट में शामिल नहीं होगी SDPI

नई दिल्ली

सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इण्डिया यानी SDPI के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एडवोकेट शरफ़ुद्दीन अहमद ने कहा है कि वह जाति, सम्प्रदाय या फिर मज़हब की बुनियाद पर बने किसी भी फ्रंट में शामिल नहीं होंगे। SDPI इस तरह की किसी भी विचारधारा के ख़िलाफ़ है। ये बात उन्होंने जारी एक प्रेस रिलीज़ में दी।
यूपी चुनाव को देखते हुए हाल ही में मुस्लिम पार्टियों ने एक गठबंधन इत्तेहाद फ़्रंट बनाया है। इसमें शामिल होने के सवाल पर बोलते हुए शरफुद्दीन ने कहा कि हमारा मक़सद देश की सेक्यूलर ताकतों को मज़बूत करना और उन्हें एक प्लेटफार्म पर लाना है। उन्होंने आगे कहा कि हमारा मकसद केवल मुस्लिम वोटों के उद्देश्य से कोई गठबंधन बनाना नहीं है।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एडवोकेट शरफ़ुद्दीन अहमद ने कहा कि अबी हाल में बने इत्तेहाद फ्रन्ट की घोषणा करने में आश्चर्य चकित रूप से जल्दबाज़ी की गयी और लोकतांत्रिक मूल्यों की अनदेखी की गयी। ये सरासर गुमराह करने वाला और विरोधाभासी है। इसके साथ ही SDPI और दूसरे दलों के अधिकृत प्रतिनिधित्व की अनुपस्थित में फ़्रन्ट का अध्यक्ष भी नियुक्त कर दिया गया।

एडवोकेट शरफ़ुद्दीन अहमद ने कहा कि SDPI पूरे देश में मज़लूमों का प्रतिनिधित्व करने वाली पार्टी है। ये किसी जाति या संप्रदाय विशेष की पार्टी नहीं है। उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक गठबंधन बनाने से आरएसएस और बीजेपी जैसे कट्टरवादियों की नीतियों को बल मिलेगा।