सऊदी सरकार सख्त, 8 रिक्रूटमेंट फर्मों का लाइसेंस रद्द

जेद्दाह, सऊदी अरब

सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुल अज़ीज की सरकार ने ख़ारजी कामगारों के हितों के लिए कई तरह के कानून बना रही है। सऊदी सरकार ने इस बार हायर करने वाली एजेंसियों के खिलाफ सख़्त कदम उठाया है। सऊदी अरब के लेबर मंत्रालय ने 8 रिक्रूटमेंन फर्मों के लाइसेंस को रद्द करते हुए उन्हें बैन कर दिया है। लेबर मंत्रालय का कहना है कि ये फर्में नियमों का पालन सही तरीके से नहीं कर रही थी।

लेबर मंत्रालय ने 14 अक्टूबर को खत्म हुए पिछले इस्लामिक साल में 8 रिक्रूमेंट फर्मों के कामकाज पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। मंत्रालय ने जारी आदेश में कहा है कि ये फर्में नौकरी के विज्ञापन देते समय हायरिंग कास्ट और दूसरी ज़रूरी बातें प्रकाशित नहीं कर रही थी जैसा कि मंत्रालय की वेबसाइट पर दर्ज किया गया है। लेबर मंत्रालय ने कई तरह की गड़बड़ियों की शिकायत और अपने अधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर 305 फर्मों के खिलाफ चेतावनी नोटिस भी जारी किया है।

लेबर मंत्रालय ने पिछले साल के आकड़े जारी करते हुए कहा है कि एक रिक्रूटमेंट फर्म और दूसरी फर्मों के 7 आफिसों का लाइसेंस को रद्द कर दिया गया है। रिक्रूटमेंट का काम करने वाली दो फर्मों और एक आफिस का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया गया है। इसके साथ ही कई तरह की गड़बड़ियों की वजह से 98 फर्मों और 207 आफिसों को सख़्त चेतावनी जारी की गई है। यही नहीं 21 आफिसों के कामकाज को पूरी तरह से सीज कर दिया गया है।

लेबर मंत्रालय का कहना है कि गड़बड़ियां करने, नियमों को न मानने और कामगारों से वादे झूठे वादे करने वाली रिक्रूटमेंट फर्मों के खिलाफ आगे भी सख़्त कार्रवाई जारी रहेगी। मंत्रालय का कहना है कि ऐसी फर्मों और आफिस के खिलाफ कस्टुमर केयर नंबर- 19911 पर कॉल करके या फिर मुसंमद की वेबसाइट पर जाकर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।

लेबर मंत्रालय का कहना है कि सऊदी अरब में ख़ारजियों को हायर करने वाली सभी फर्मों और आफिस को फीस और दूसरे खर्चों के बारे में कामगारों को लिखित बताना होगा। मंत्रालय का कहना है कि इससे काम में पारदर्शिता, निष्पक्षता और कामगारों के हितों की रक्षा होगी।

कामगारों और रिक्रूटमेंट फर्मों के बीच सेतु बनाने और बेहतर काम करने के लिए मंत्रालय की वेबसाइट मुसंनद पिछले साल लांच की गई थी। इस वेबसाइट में ख़रजियों, कामगारों और वर्करों से जुड़ी जानकारी जैसे रिक्रूटमेंट फर्मों के लाइसेंस, आफिस के लाइसेंस, शिकायत करने का तरीका, विवाद होने पर शिकायत, डाक्यूमेंट्स की सेम्पल कापी, एक्जिट- इंट्री वीज़ा और रेजीडेंट परमिट के बारे में जानकारी दी गई है।

लेबर मंत्रालय़ ने अभी हाल में ही कस्टूमर शिकायत सेंटर में काफी बदलाव किया है। अब शिकायत सेंटर में दूसरे देशों की 8 ज़बानों में लोगों की शिकायत सुनी जा रही है। इससे ख़ारजियों को काफी फायदा हुआ है और शिकायत करने वालों की तादाद कई गुना बढ़ गई है।

1 COMMENT

  1. Dear sir namsakar mera nam surendra Kumar barnwal hai mai saudi 1 June ko aaya settring carpenter ke kam se kafil bola ki company hai likin yaha aane par malum hua ki mussa hai yaha par koi subidha nahi hai bola ki sab kam karna parega Maine mana Kia to mere ko ofice le jakar pepar pe jabarjasti sine 6000 riyal par aur bolta hai ki 2yers ke bad bhi India nahi Jane dunga hamara agreement 2yers ka hai hum Kia kare ki hum ghar wapas aa jaye kripya Hamari madad kare 966594573627mera mobile no hai Mumbai ke riya travels ne bheja hai manager ka mobile no 919820331903hai

Comments are closed.