मुसलमानों का इस्तेमाल करती हैं समाजवादी पार्टी: नसीमुद्दीन सिद्दीकी

लखनऊ, यूपी

बीएसपी जनरल सेक्रेटरी नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने आरोप लगाया है कि समाजवादी पार्टी मुसलमानों का केवल इस्तेमाल करती है। उन्होंने कहा कि जिस तरह बिरयानी बनाते समय स्वाद के लिए तेजपत्ता इस्तेमाल किया जाता है और खाते समय इसे निकाल दिया जाता है, ठीक ऐसा ही मुसलमानों के साथ सपा करती है। नसीमुद्दीन सिद्दीकी शुक्रवार को लखनऊ के मुंशी पुलिया पर में ‘बीएसपी भाईचारा सम्‍मेलन’ को संबोधि‍त कर रहे थे।

नसीमुद्दीन ने कहा कि 2012 में यूपी वि‍धानसभा चुनाव के पहले सपा ने कहा था कि मुसलमानों को उनकी जनसंख्‍या के अनुसार आरक्षण दि‍या जाएगा। साथ ही नि‍र्दोष मुस्‍लि‍म युवाओं पर लगाए गए आतंक के आरोप वापस लि‍ए जाएंगे। सपा की सरकार बनने के बाद 5 साल के दौरान ऐसा कुछ नहीं हुआ। उन्‍होंने कहा कि पि‍छले 25 साल से मुसलमान सपा को अपना वोट देते आ रहे हैं।

नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि चुनाव के समय इस्‍तेमाल करती है और बाद में उन्‍हें भूल जाती है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि बीफ और गायों की सुरक्षा के मुद्दे पर दलि‍त और मुस्‍लि‍म हमेशा शक की नज़र से देखे जाते हैं, लेकि‍न ये दोनों कभी साथ नहीं आते। नसीमुद्दीन ने कहा कि यदि ये दोनों एक साथ मि‍ल जाएं तो वे राजनीति के लि‍ए बड़ी मि‍साल कायम हो जाएंगे और उनपर कोई बेवजह उंगली नहीं उठा सकेगा।

बीएसपी महासचिव ने कहा कि केवल अखि‍लेश सरकार में ही 400 सांप्रदायि‍क दंगे हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि दंगे अपने आप से नहीं होते बल्कि करवाए जाते हैं। इसके पीछे बीजेपी और सपा का हाथ रहा है। बसपा के 5 साल के शासनकाल में कोई दंगा नहीं हुआ। उन्‍होंने लोगों को नसीहत देते हुए कहा कि चुनाव के पहले दंगे हो सकते हैं, इसलि‍ए लोगों को सावधान रहना चाहि‍ए।