राज्य सभा नामांकन: डॉ अय्यूब की मौजूदगी से मचा घमासान

लखनऊ, यूपी

यूपी में राज्य सभा की सीट के नामांकन के दौरान निर्दलीय उम्मीदवार प्रीति महापात्रा के साथ डॉ अय्यूब की एक तस्वीर को लेकर घमासान छिड़ गया है। ये तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जा रही है। इस तस्वीर के ज़रिये डॉ अय्यूब को बीजेपी के साथ होने का दावा किया जा रहा है। दूसरी तरफ पीस पार्टी ने बीजेपी के साथ किसी भी तरह के संबंध होने से इंकार किया है। पार्टी का कहना है कि बीजेपी उनके लिए दुश्मन नंबर एक है।

तस्वीर का सच
पीएनएस ने इस तस्वीर की पड़ताल की तो पता चला कि ये तस्वीर बिल्कुल सही है। इसमें किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की गई हैं। ये तस्वीर विधान भवन के अंदर नामांकन के दौरान की है। तस्वीर में प्रति महापात्रा अपना नॉमिनेशन फाइल कर रहीं हैं। डॉ अय्यूब उनके साथ बैठे हैं। इसके साथ ही कई अन्य पार्टियों के विधायक भी साथ में हैं।

क्या है माजरा
दरअसल गुजरात की रहने वाली बिजनेस वुमेन प्रीति महापात्रा ने यूपी से निर्दलीय राज्य सभा के लिए पर्चा दाखिला करने का फैसला किया। इसके लिए कई दूसरे प्रस्तावकों के साथ पीस पार्टी के विधायक डॉ अय्यूब प्रस्तावक बने। जब नामांकन हाल में उन्होंने प्रीति के साथ बीजेपी के नेताओं और विधायकों को देखा तो उन्होंने तुरंत ही रिटर्निंग आफिसर के पास जाकर अपना प्रस्ताव खारिज करने के लिए कहा। रिटर्निंग आफिसर ने उनके अनुरोध को स्वीकार करके उनका प्रस्तावक बनना निरस्त कर दिया। कई लोगों ने इसी तस्वीर को सोशल मीडिया पर डाल कर डॉ अय्यूब पर आरोप लगाने शुरु कर दिए।

310516 PEACE PARTY AYUB WITH PREETI 2

डॉ अय्यूब का स्पष्टीकरण
पीस पार्टी की अध्यक्ष डॉ अय्यूब ने जारी एक बयान जारी किया। इसमें उन्होंने साफ कहा कि वह बीजेपी या उसके साथ वाले किसी भी व्यक्ति का समर्थन नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि उनका न तो बीजेपी से संबंध या सहयोग है और न ही रहेगा। पीएनएस से बातचीत में पीस पार्टी ने कहा कि कुछ लोग डॉ अय्यूब और पीस पार्टी की इमेज खराब करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वो कभी कामयाब नहीं होंगे।

कौन हैं प्रीति महापात्रा
प्रीति महापात्रा गुजरात के बड़े बिजनेसमैन हरिहर महापात्रा की पत्नी हैं। वह कृष्णलीला फाउंडेशन नाम की एक गैर-सरकारी संस्था चलाती हैं और खुद भी बिजनेस करती हैं। उनकी यह फाउंडेशन टॉयलेट मिशन के तहत कई राज्यों में काम करती है। मुख्य रूप से गुजरात, महाराष्ट्र और ओडिशा में सक्रिय है। प्रीति हाल ही में नवसारी जिले में 10 हजार टॉयलेट बनवाकर सुर्खियों में आई थीं। प्रीति के पति हरिहर महापात्रा ने गुजरात के सूरत में 1.2 किमी लंबा टॉवर बनाने में इंट्रेस्ट दिखाया है। उनका दावा है कि यह दुनिया का सबसे लंबा टॉवर होगा। दावा था कि इसके कंस्ट्रक्शन में 1200 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। इसके लिए उनकी फर्म ने 1 स्क्वायर किलोमीटर एरिया की मांग की है।