स्मृति ईरानी दख़ल ना देतीं तो आज रोहित ज़िंदा होता: ओवैसी

नई दिल्ली

एमआईएम के अध्यक्ष और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर इलज़ाम लगाया है कि वह “राष्ट्रवाद” के मुद्दे पर दोहरे मापदंड का इस्तेमाल कर रही है। सांसद ओवैसी ने लोक सभा में चर्चा के दौरान कहा कि बीजेपी का राष्ट्रवाद तब कहाँ था जब अफज़ल-गुरु को शहीद मानने वाली पीडीपी से गठबंधन किया और जम्मू कश्मीर में सरकार बनायी थी और उसकी फांसी को “त्रवेस्टी ऑफ़ जस्टिस” बताया था।

सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि बीजेपी देश में राष्ट्रवाद का सर्टिफिकेट देती है, कांग्रेस सेक्युलर होने का देती हैं। मैं आप से विनती करता हूँ कि अपने विचार दूसरों पर न थोपें।

एमआईम अध्यक्ष ओवैसी ने रोहित वेमुला की आत्महत्या के लिए मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी को ज़िम्मेदार बताया। ओवैसी ने कहा अगर मंत्री ने दख़ल नहीं दिया होता, तो आज रोहित ज़िंदा होता। जहां तक कन्हैया कुमार की बात है तो वो मासूम है और उन टीवी चैनल के ख़िलाफ़ एक्शन लेना चाहिए जिन्होंने जेएनयू के बारे में झूठ फैला रहे हैं।