सरकारी स्कूल के बच्चों की प्रतिभा देख पीएम मोदी अचंभित, बोले-इनके टीचर से भी मिलना चाहूंगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे और करोड़ों की सौगात दी। पीएम मोदी ने सबसे पहले सरकारी स्कूल के बच्चों के  मिड डे मील के लिए सबसे बड़ी रसोई अक्षय पात्र का शुभारंभ किया। यहां कई बच्चों के साथ पीएम मोदी ने मुलाकात की। इस दौरान बच्चों की प्रतिभा देख मोदी दंग रह गए। मोदी बच्चों से इतने ज्यादा प्रभावित हुए कि उसका बखान नई शिक्षा नीति पर आयोजित समागम में शिक्षाविदों से किया। यहां तक कहा कि आपको ऐसे इंस्टिट्यूट की अब स्थापना करनी है जहां कमाल की मेधा आने वाली है। मोदी ने यह भी कहा कि अब मैं इन बच्चों के टीचर से भी मिलना चाहूंगा।

शिक्षा समागम में पीएम मोदी ने कहा कि अभी अक्षय पात्र योजना का शुभारंभ करके आ रहा हूं। वहां सरकारी स्कूल के बच्चों के साथ गप गोष्ठी करने का अवसर मिला। मैं बच्चों से सुनकर आया हूं और आपको सुनाने आया हूं। जिस स्कूल के बच्चों से मेरा मिलना हुआ है, अगली बार उनके टीचर से मिलना चाहूंगा।

मोदी ने कहा कि बच्चों में जो कान्फिडेंस और टैलेंट मैंने देखा, वह भी एक सरकारी स्कूल के सामान्य परिवार के बच्चों की। जो टैलेंट बच्चे वहां प्रस्तुत कर रहे थे। अगर आपके यहां भी कोई बच्चा वैसा होगा तो आप मेहमान के सामने उसे ही खड़ा कर देंगे। आप उससे कहेंगे कि कुछ सुनाओ। आपके सामने चुनौती है कि इस तरह का इंस्टिट्यूड बनाकर जो इस प्रतिभा के बच्चों को रास्ता दिखा सके।