लगातार तीसरे साल पीएम मोदी इफ्तार पार्टी से रहे दूर

नई दिल्ली

राष्‍ट्रपति प्रणव मुखर्जी की ओर से जुमें को इफ्तार पार्टी दी गई। इसमें कई बड़े नेता शामिल हुए। पीएम नरेंद्र मोदी इस इफ्तार पार्टी में नहीं आए। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि पीएम मोदी ने इफ्तार पार्टी में शामिल न होने पर खेद जताया है। मालूम हो कि पीएम मोदी पिछले दो सालों में भी इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं हुए थे। गुजरात के मुख्‍यमंत्री रहने के दौरान भी मोदी ने न तो कभी इफ्तार पार्टी दी और न कभी किसी और जगह इसका हिस्‍सा बने।

सरकार की ओर से राष्‍ट्रपति की इफ्तार पार्टी में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली और अल्‍पसंख्‍यक मामलों के राज्‍य मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी शामिल हुए। इसके साथ ही कई सांसद भी इफ्तार पार्टी में पहुंचे।

देश में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्‍व में जब एनडीए की केंद्र में सरकार बनी थी उस समय पीएम की ओर से इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जाता था। पीएम मोदी ने खुद को इस तरह के आयोजनों से दूर रखा है। गुजरात के मुख्‍यमंत्री रहने के दौरान भी मोदी ने न तो कभी इफ्तार पार्टी दी और न कभी किसी और जगह इसका हिस्‍सा बने। पीएम मोदी सरकार के किसी मंत्री की ओर से भी इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं किया गया।

राष्‍ट्रपति की ओर से दी गई इफ्तार पार्टी में उपराष्‍ट्रपति हामिद अंसारी, कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी, दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, पूर्व सीएम शीला दीक्षित, राज्‍य सभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आज़ाद और पाकिस्‍तान के उच्‍चायुक्‍त अब्‍दुल बासित शामिल हुए। इस दौरान बिरयानी, कोरमा और अन्‍य पकवान परोसे गए। राष्‍ट्रपति ने सभी को रमज़ान की मुबारकबाद दी।