मक्का से मीना पहुंचे हज यात्री, सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम

मक्का, सऊदी अरब

हज- 2016 का मुकद्दस सफर आज सुबह से शुरु हो गया है। करीब 20 लाख लोग मक्का से मीना के लिए निकल चुके हैं। इनमें सऊदी अरब के साथ पूरी दुनिया के लोग शामिल हैं। करीब डेढ़ लाख से ज्यादा भारतीय भी हज के लिए इस समय सऊदी अरब में हैं। सऊदी के पाक शहर मक्का से नजदीक शहर मीना में जाने के लिए शनिवार को सुबह से सफर शुरु कर दिया है।

‘लब्बेक अल्लाहुम्मा लब्बेक लाशरिका लका लब्बेक’ यानी… “मैं तुम्हारे पास आया हूं, ऐ मेरे अल्लाह, मैं तुम्हारे पास आया हूं” यहीं कहते हुए हज यात्री आगे बढ़ रहे हैं। सऊदी अरब सरकार ने हाजियों की सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए हैं। सऊदी अरब के किंग सलमान खुब सुरक्षा इंतज़ामों का जायज़ा ले रहे हैं। पूरी दुनिया के मुसलमानों की नज़र इस समय हज पर टिकी हुई हैं।

100916-haj-pilgrims-move-to-meena-1

सऊदी अरब हज सिक्यूरिटी फोर्स के कमांडर ले जनरल खालेद अल-हरबी ने बताया कि ये हमारे लिए फख्र की बात है कि हम अल्लाह के मेहमानों की खिदमत कर रहे हैं। हम हर तरह से हाज यात्रियों की सुरक्षा से लेकर हर तरह की मदद के लिए तैयार हैं। उन्होंने बताया कि हम ऐसी कोशिश कर रहे हैं कि दुनिया से आने वाले लोग यहां किसी भी तरह कि दिक्कत का सामना नहीं करेंगे।

पांच दिन की हज यात्रा का ये पहला दिन है। मक्का से मीना जाने के लिए हाजी बसों, कारों और पैदल रास्तों का इस्तेमाल कर रहे हैं। सऊदी सरकार ने हर रास्ते पर पीने का पानी से लेकर खाने की चीज़ें का बेहतरीन इंतज़ाम कर रखा है। इसके साथ ही गर्मी से लोगों को बचाने के लिए सड़कों पर फौवारों का इंतज़ाम किया गया है। इस बार गर्मी ज़्यादा पड़ रही है और यहां का तापमान करीब 40 से 45 डिग्री के आसपास है।

मीना में हाजियों के लिए 50 हज़ार से ज़्यादा टेंट लगाए गए हैं। दुनिया भर से आए हाजियों के लिए यौम अल-तारविया, मीना में मेहमानों जैसे खास इंतज़ाम किए गए हैं। आग से हिफाज़त के लिए खासतौर पर पानी की पाइप लाइन बिछाई गई है।

मीना से हज यात्री दूसरे दिन इतवार को अराफात की पहाड़ियों पर जाएंगे। हाजी यहां दिन भर रहकर अल्लाह की इबादत करेंगे। उसके बाद शाम होते ही सभी हाजी मुजदलफा की पहाडियों के लिए निकल जाएंगे। मुजदलफा में सभी हाजी खुले आसमान के नीचे रात गुज़ार कर इबादत करेंगे। इसके साथ ही मुजदलफा में कंकड़ इकट्ठा करेंगे जिसका इस्तेमाल मीना में सतून को मारने के लिए किया जाएगा। अगले दिन सुबह हाजी सतून को पत्थर मारेंगे। इसके बाद मक्का आकर ट्वाफ और सई करेंगे। इसके बाद कुर्बानी करेंगे। इस तरह से हज पुरा किया जाएगा।

सुप्रीम हज कमेटी, मक्का के चेयरमैन प्रिंस मोहम्मद बिन नायफ ने बताया कि हरम शरीफ के हरमैन अल-सरफैन और सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुल अज़ीज ने पूरी दुनिया से हज यात्रा पर आए लोगों को मुबारकबाद दी है। किंग सलमान ने अपने बयान में कहा कि “हम इस खास दिन के लिए फख्र महसूस कर रहे हैं, मेरी तरफ से हज-2016 पर आए सभी लोगों की मुबारकबाद। हमारी कोशिश है कि हम अल्लाह की मदद से इस पाक शहर में सभी को शांति और सुरक्षा के साथ हज मुकम्मल करने में मदद करें। हमारी कोशिश है कि सभी को बेहतरीन सुविधाएं मिल सकें”। इस साल दुनिया के करीब 164 मुल्क के करीब 14 लाख लोग हज करने मक्का आए हैं।

सऊदी सरकार ने हाजियों के लिए सुरक्षा के सख्त इंतज़ाम किए हैं। सिर्फ मक्का में 1 लाख सुरक्षा कर्मी और 5 हज़ार सीसीटीवी कैमरे से नज़र रखी जा रही है। मक्का से मीना जा रहे हाजियों की सुरक्षा के लिए दर्जनों हेलीकाप्टर आसमान में उड़ते दिख जाएंगे। सऊदी अरब के आंतरिक मामलों के मंत्री मेजर जन मनसूर अल-तुर्की ने बताया कि मीना से मक्का का सफर हाजियों में अच्छे तरीके से पूरा कर लिया।