सपा सरकार की नींद उड़ाने फिर यूपी आ रहे हैं ओवैसी

लखनऊ, यूपी

एमआईएम के अध्यक्ष और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन तीन दिन के दौरे पर यूपी आ रहे हैं। वे राजधानी लखनऊ के साथ कानपुर का दौरा करेंगे। सांसद अवौसी लखनऊ और कानपुर में पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। इसके साथ ही इस बार ओवैसी कई दूसरे कार्यक्रम में भी भाग लेंगे। अगर सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो ओवैसी के इस दौरे से कई दलों की जड़े हिल सकती हैँ।

पार्टी के प्रदेश संयोजक शौकत अली ने पीएनएस को बताया कि सदर ओवैसी तीन दिन के लिए यूपी आ रहें हैं। असदुद्दीन ओवैसी 12, 13 और 14 अगस्त को यूपी दौरे पर रहेंगे। उनके कई कार्यक्रम हैं। शौकत अली ने कहा कि कुछ कार्यक्रम अभी फाइनल नहीं हैं लेकिन इतना तय कि वह यूपी में न सिर्फ पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं से मिलेंगे बल्कि कई और लोगों से उनका मिलने का कार्यक्रम है।

आने का कार्यक्रम
असदुद्दीन ओवैसी जुमें के दिन शाम को लखनऊ एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे। इसके बाद सीधे वह एक दलित नेता के घर जा सकते हैं। यहां ओवैसी करीब एक घंटे रुकेंगे और मुस्लिम-दलित गठजोड़ पर बात करेंगे। ये मुलाकात एक सीनियर मुस्लिम सपा नेता की तरफ से कराई जा रही है जिन्हें सीएम अखिलेश यादव ने पार्टी में शामिल किया था लेकिन उसके बाद किनारे रखा गया है। सूत्रों के मुताबिक इस मुलाकात में कई दलित नेता शामिल हो सकते हैं।

संपादकों से मुलाकात !
सूत्रों के मुताबिक शनिवार को दिन में 11 बज़े से 1 बजे तक सांसद ओवैसी का राजधानी से प्रकाशित अंग्रेजी, हिंदी और उर्दू अखबारों के संपादकों और सीनियर सहाफियों से मुलाकात का कार्यक्रम है। ये मुलाकात अनौपचारिक होगी पर ओवैसी इसमें संपादकों की हर बात का जवाब देंगे लेकिन इस कार्यक्रम में कैमरा मना होगा। इनके लिए बाकायदा पार्टी ने एक टीम बनाई है जो सभी संपादकों से मिलेगी।

कार्यकर्ता सम्मेलन
शनिवार को ही दिन में 11 बज़े से 5 बजे तक साइंटिफिक कंवेंशन सेंटर में कार्यकर्ता सम्मेलन रखा गया है। पार्टी सदर इसमें करीब दो बजे शामिल होंगे। पार्टी ने बरसात को देखते हुए इंडोर कार्यक्रम रखा है। इसके लिए पार्टी ने अलग टीम बनाई है। इसकी तैयारियां ज़ोरों पर हैं। पार्टी के संयोजक शौकत अली खुद इसपर नज़र रख रहे हैं।

मुस्लिम बुद्धिजियों के साथ बातचीत
ये कार्यक्रम रात 8 बजे शुरु होगा और कार्यक्रम के बाद डिनर होगा। पार्टी से जुड़े लोगों का मानना है कि प्रदेश का युवा तो उसके साथ है लेकिन मुस्लिम बुध्दिजीवी कई वजहों से उससे नहीं जुड़ पा रहा है। इसकी बड़ी वजह उनके जेहन में चल रहा कुछ सवाल हैं जिसका वो जवाब चाहता है। सासद ओवैसी के साथ जब ये लोग खुलकर बात करेंगे तो शायद उन्हें सवालों का जवाब मिल जाएगा। पार्टी को उम्मीद है कि इससे जनता में भी एक अच्छा मैसेज जाएगा और पार्टी मज़बूत होगी।

इतवार की सुबह
ओवैसी सरकारी गेस्ट हाउस में रुकेंगे। इतवार को सुबह वहीं पर 11 बजे तक अलग-अलग नेताओं, संगठनों के लोगों से मुलाकात करेंगे। पार्टी सूत्रों के मुताबिक कई छोटी पार्टियों के नेता ओवैसी से मिलना चाहते हैं। उन्हें इस बारे में बता दिया गया है।

कानपुर की रैली
पार्टी ने कानपुर में दिन में रैली का आयोजन किया है। दरअसल पार्टी की कानपुर यूनिट में शुरु से ही विवाद रहा है। अभी नया ज़िला अध्यक्ष बनाया गया है। पार्टी का मानता है कि वहां की यूनिट ठीक तरीके से काम नहीं कर रही थी। ये रैली नये अध्यक्ष की ये अग्नि परीक्षा भी है। अगर प्रशासन ने इजाज़त दी तो ओवैसी इस कानपुर की रैली में शामिल होंगे। उसके बाद लखनऊ वापस आ जाएंगे।

वापसी
इसी दिन ओवैसी दिल्ली वापस जाएंगे। अगर सब ठीक रहा तो ये ओवैसी का सबसे बड़ा दौरा होगा। यहीं नहीं इस दौरे पर जहां पार्टी को काफी उम्मीदें हैं वही कई दलों की निगाहें रहेंगी। प्रशासन में अभी से बेचैनी दिख रही है। पार्टी के स्थानीय नेताओं का कहना है कि ये दौरा यूपी में पार्टी के लिए मील का पत्थर साबित होगा।