मोदी ने सिलेंडर के दाम बढ़ाकर गरीबों की कमर तोड़ दी: SDPI

नई दिल्ली

सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) ने घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम बढ़ाने के केंद्र सरकार के फैसले का विरोध किया है। पार्टी का कहना है कि जब पेट्रोलियम के दाम नहीं बढ़े हैं तो एलपीजी के दाम क्यों बढ़ाए गए हैं। पार्टी का मानना है कि इससे देश में रह रहे गरीबों की कमर टूट जाएगी। पार्टी ने इसे तत्काल वापस लेने की मांग की है। एसडीपीआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ए सईद ने जारी एक बयान में ये बातें कहीं।

मालूम हो कि केंद्र की मोदी सरकार के पैट्रोलियम मंत्रालय ने बिना सब्सीडी वाले सिलेंडर के दामों में 86 रूपये की बढ़ोत्तरी की कड़ी निंदा की है। ए सईद ने कहा कि यह भारतीय इतिहास में एलपीजी सिलेंडर के दामों में अब तक की सबसे बड़ी वृद्धि है। 737.50 रूपये के सिलेंडर की कीमत ने ग़रीब और आम लोगों का बजट बिगाड़ दिया है। इसके अलावा केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा खाद्य सामग्री और दूसरी चीज़ो के दामों में वृद्धि के चलते क़ीमते भी आसमान छू रही है और गरीब व मध्यम वर्ग से दूर होती जा रही है।

ए सईद ने बताया कि रोजमर्रा की घरेलू चीज़ो की कीमतों को क़ाबू करने के बजाय केंद्र सरकार सिर्फ कीमतों में बढ़ोत्तरी करके अमीरों को फायदा पहुंचाने की कोशिश में लगी हुई है। सईद ने आगे कहा कि यह बीजेपी सरकार हर मोर्चे पर नाकाम रही है और बुनियादी चीज़ों के दामों में कमी के जैसे चुनावी वादे महज़ खोखले और जुमले साबित हुए है। देश में हर चीज़ों की कीमतों में बेतहाशा वृ़द्धि अब तक की सबसे बड़ी वृद्धि है जिसने आम नागरिक का जीवन कठिन बना कर रख दिया है।