पहली बार मस्जिद जाएंगे ओबामा

वाशिंगटन

अमेरिका के राष्ट्रेपति बनने के बाद पहली बार बराक ओबामा किसी अमेरिकी मस्जिद में जाएंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने बताया कि बराक ओबामा ने धार्मिक स्वतंत्रता की रक्षा और अमेरिका में मुस्लिम विरोधी बयानबाजी में हो रही बढ़ोतरी के कारण बाल्टीमोर मस्जिद का दौरा करने का फैसला किया है।

बराक ओबामा मस्जिद में बुनियादी मूल्यों को सही रहने के महत्व को दोहराते हुए अमेरिकियों से धार्मिक कट्टरता के खिलाफ आवाज़ उठाने की मांग करेंगे। साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा धार्मिक स्वतंत्रता की रक्षा के लिए देश की परंपरा को बनाए रखने पर ज़ोर देंगे।

राष्ट्रपति ओबामा अपने विदेश दौरे के दौरान मस्जिदों में जाते रहे है, लेकिन राष्ट्रपति बनने के बाद वह कभी भी अमेरिका की किसी मस्जिद में नहीं गए। यह पहली बार होगा जब वह बतौर राष्ट्रपति अमेरिका की किसी मस्जिद में जाएंगे। डेमोक्रेटिक पार्टी से संबंध रखने वाले ओबामा राष्ट्रपति के रूप में अपने कार्यकाल के आखिरी साल में हैं।

बराक ओबामा ने अमेरिकियों से अपील करते हुए कहा है कि वे राजनेताओं खास कर रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी का दावा पेश करने वाले डोनाल्ड ट्रम्प के मुस्लिम विरोधी टिप्पणियों को अस्वीकार कर दें। जनमत सर्वेक्षणों में रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से ट्रम्प सबसे सबसे आगे है। उन्होंने सान बर्नार्डिनो में मुस्लिम दंपत्ति द्वारा इस्लामिक आतंकवाद से प्रभावित होकर किये गोलीबारी के बाद अमेरिका में मुस्लिमों के प्रवेश पर रोक की मांग की थी। इस गोलीबारी में 14 लोग मारे गए थे।