धर्मनिरपेक्षता न मानने वाले देशद्रोही: जस्टिस सच्चर

लखनऊ, यूपी

मुसलामनों के हालात पर सच्चर कमेटी की रिपोर्ट पेश करने वाले दिल्ली हाई कोर्ट में पूर्व चीफ जस्टिस राजिन्दर सच्चर ने कहा कि पिछले कुछ समय से देश में सांप्रदायिकता का खतरा बढ़ा है। उन्होंने कहा कि सत्ता में बैठे लोग भारत को हिदू राष्ट्र बनाने पर आमादा हैं।

जस्टिस सच्चर लखनऊ के हिदी संस्थान में सांप्रदायिक सद्भाव सोसाइटी की ओर से आयोजित देश में सांप्रदायिकता की स्थिति और उत्तर प्रदेश के विशेष संदर्भ में संगोष्ठी में बोल रहे थे। जस्टिस सच्चर ने कहा कि भारत के संविधान में साफ तौर पर लिका है कि ये मुल्क धर्मनिरपेक्ष है। शायद कुछ लोगों ने इसे ठीक से पढ़ा नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को संविधान को ठीक से पढ़ना चाहिए।

जस्टिस सच्चर ने कहा कि भारत हिदू राष्ट्र नहीं बल्कि धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है। संविधान की मूल भावना के खिलाफ धर्मनिरपेक्षता न मानने और सांप्रदायिकता फैलाने वाले लोग देशद्रोही हैं।

उन्होंने कहा कि समाज के हर इंसान को ऐसी खराब सरकार और सोच के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करनी चाहिए।