देश में अल्पसंख्यकों के मन में है डर: नारायणमूर्ति

नई दिल्ली

इंफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति का कहा है कि मौजूदा समय में अल्पसंख्यकों के मन में डर समाया हुआ है। नारायन मूर्ति ने कहा कि देश के विकास के लिए इस डर को खत्म करने की जरूरत है। उन्होंने एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में यह बात कही।

नारायण मूर्ति ने अंग्रेजी न्यूज़ चैनल एनडीटीवी से बात करते हुए कहा कि उनके पास कई ईमेल आ रहे हैं, जिनमें लोग अपनी चिंताएं व्यक्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसे देखकर यही लग रहा है कि यूपीए और एनडीए सरकार में कोई अंतर नहीं है। आर्थिक प्रगति के लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरत लोगों के बीच शांति और सद्भाव का माहौल बनाने की है। मुल्क में लोगों के बीच भरोसे और उत्साह का माहौल होना चाहिए।

नारायन मूर्ति ने कहा कि मैं राजनेता नहीं हूं लेकिन सच्चाई है कि आज अल्पसंख्यकों में डर है। उन लोगों में भी डर है जो अपने राज्य को छोड़कर दूसरे राज्य में जा रहे हैं। इस कार्यक्रम में केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री जयंत सिंहा ने कहा कि संवैधानिक आजादी के उल्लंघन को रोकने के लिए कानून की पूरी शक्ति लगानी चाहिए। अगर किसी को लगता है कि असहनशीलता का माहौल है तो वो इसलिए नहीं कि हम संविधान का पालन नहीं कर रहे हैं।