सौहार्द: मध्य प्रदेश के मंदिर में मुस्लिम ने लगवाया सबसे बड़ा घंटा

मंदसौर, मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश के मंदसौर में एक मुस्लिम शख्स ने हिंदू-मुस्लिम सद्भभावना और भाईचारे की बेहतरीन मिसाल पेश की है। लंबे समय से समाज सेवा से जुड़े रहे नाहरूखान के बारे में बताया जाता है कि कोरोना काल में उन्होंने अस्पतालों में सैनेटाइजर मशीनें दी थीं। जिसकी काफी चर्चा हुई थी। इस बार नाहरूखान ने हिंदुओं के मंदिर में देश का सबसे बड़ा घंटा स्थापित किया है, जिसकी सभी चर्चा कर रहे हैं।

सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश करते हुए मुस्लिम मिस्त्री नाहरूखान ने यहां के पशुपतिनाथ मंदिर परिसर में रखे हुए महाघंटे को मंदिर में स्थापित किया है। लोगों के दर्शन के लिए यह महाघंटा काफी लंबे समय से यहां रखा गया था। खास बात यह है कि नाहरूखान ने इस महाघंटा को स्थापित करने के लिए कोई शुल्क भी नहीं लिया।

मंदसौर कलेक्टर गौतम सिंह ने बताया कि जब उन्होंने ज्वाइन किया तो उन्हें लगा कि ये प्रदर्शित करने की चीज है, लेकिन महाघंटा अभियान के सदस्यों ने इसे लगाने का आग्रह किया तो लगा कि ये इसे सुरक्षित लगा पाना काफी खतरनाक है। हालांकि समाजसेवी नहरूखान से इसे लेकर जब बात हुई तो उन्होंने इस काम को पूरी करने का जिम्मा अपने सर लिया और 15 दिनों के भीतर इसे सुरक्षित स्थापित भी कर दिया।

पशुपति नाथ मंदिर में लगा यह महाघंटा भी अपनेआप में बेहद खास है। यह महाघंटा 6 फीट लंबा एवं 66.50 इंच व्यास का है। इस महाघंटा को बजाने के लिए 200 किलो से अधिक का दोलन भी तैयार किया गया है। इस महाघंटे का कुल वजन 3700 किलो है। देश के इस सबसे भारी घंटे का उद्घाटन अब राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे।