काशी और मथुरा पर सत्य के सामने मुस्लिम समाज कर दे समर्पण, बोले हिंदूवादी नेता जयभान सिंह पवैया

ज्ञानवापी मज्जिद को लेकर बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय संयोजक और कट्टर हिंदूवादी नेता जयभान सिंह पवैया का बड़ा बयान सामने आया है। जयभान सिंह पवैया ने ज्ञानवापी मामले को लेकर ट्वीट कर चेतावनी दी है कि ज्ञानवापी एक अवसर है। काशी और मथुरा पर सत्य के सामने समर्पण करने से मुस्लिम समाज सद्भाव की नींव रख सकता है। अन्यथा तीन नहीं तीस हजार…इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि ध्यान रखें ..पांडवों ने 5 गांव ही मांगे थे, मगर दुर्योधन की जिद का नतीजा क्या हुआ?

बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय संयोजक और कट्टर हिंदूवादी नेता जयभान सिंह पवैया इस समय ज्ञानवापी मामले को लेकर पूरी नजर बनाए हुए हैं। जयभान सिंह पवैया बाबरी विध्वंस मामले में मुख्य आरोपियों में से एक हैं और हिंदुत्व के मामले में उनका एक बयान पूरे देश की राजनीति में हलचल मचा देता है। यही वजह है कि कट्टर हिंदूवादी नेता कहीं जाने वाले जयभान सिंह पवैया ज्ञानवापी मामले को लेकर भी खुलकर सामने आ गए हैं। पवैया ने इस मामले को लेकर मुस्लिम समाज से अपील की है और कहा है कि वह सद्भावना का रास्ता अपनाते हुए काशी और मथुरा पर सभ्यता का साथ दें। इसके साथ ही उन्होंने इशारे ही इशारे में मुस्लिम समाज को चेतावनी दी है।

बता दें कि ज्ञानवापी मस्जिद का विवाद धीरे-धीरे गहराता जा रहा है। मस्जिद के सर्वे में एक शिवलिंग मिलने का दावा किया गया है। इस खबर के सामने आने के बाद कोर्ट ने उस जगह को सील करने का आदेश दे दिया। इस पर राजनीतिक घमासान भी मचा हुआ है।