हज हाउस: मुस्लिम बच्चों को सिविल सर्विसेज की फ्री-कोचिंग

लखनऊ, यूपी

राजधानी लखनऊ में यूपी स्टेट हज कमेटी की महत्वपूर्ण बैठक हुई। इस बैठक की अध्यक्षता हज कमेटी के चेयरमैन और प्रदेश के नगर विकास और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आज़म खाँ ने की। बैठक में हज कमेटी के कई बड़े फैसलों पर मुहर लगाई गई।

बैठक में सबसे बड़ा फैसला किया गया कि लखनऊ और ग़ाज़ियाबाद के हज हाउस में यात्रियों की हज उड़ान के बाद इसका इस्तेमाल कैसे किया जाए। अब इनमें मुस्लिम बच्चों के लिये आईएएस, पीसीएस और दूसरे कंपटीशन परिक्षाओं की निःशुल्क कोचिंग क्लासेज़ संचालित किया जाएगा। दोनों हज हाउस में बच्चों के लिये आवासीय व्यवस्था भी कराई जाएगी। हज कमेटी के इस फैसले से कंपटीशन की तैयारी कर रहे मुस्लिम बच्चों को काफी फायदा होगा।

राजधानी लखनऊ के चारबाग में मुस्लिम मुसाफिर खाने के बेहतर रखरखाव के लिए फैसला किया गया। हज कमेटी की सेवा नियमावली और शासन द्वारा स्वीकृत किये गये और स्वीकृत किये जाने वाले पदों का प्रस्ताव भी तैयार करने की बात कही गई है। हज कमेटी और हज हाउस में वांछित पदों पर भर्ती प्रक्रिया को शुरु करने का निर्णय किया गया है। हज कमेटी के अधिकारियों/कर्मचारियों की भविष्य निधि संबंधी प्रस्ताव और कर्मचारियों की प्रोन्नति और एसीपी आदि की सुविधा उपलब्ध कराया जाना मुख्य रूप से शामिल हैं।

हज कमेटी की बैठक में अध्यक्ष आज़म खाँ ने वाराणसी में प्रस्तावित हज हाउस के लिये ज़मीन उपलब्ध कराये जाने के कार्य में तेजी़ लाये जाने के सख्त निर्देश अधिकारियों को दिये।

हज कमेटी की बैठक में नगर विकास और अल्पसंख्यक कल्याण के सचिव श्रीप्रकाश सिंह, समिति के सचिव और कार्यपालक अधिकारी मोहम्मद ज़ुबैर अहमद और उप कार्यपालक अधिकारी तनवीर अहमद मौजूद थे। इसके अलावा कमेटी के सदस्य कारी मौलाना यासीन अहमद खाँ, परवेज़ अहमद उर्फ जोकू, सरफ़राज वली खाँ, सैयद यावर हुसैन रेशू, शकील अहमद, शहज़ादे खाँ, के साथ पदेन सदस्य के रूप में उत्तर प्रदेश सुन्नी सेण्ट्रल वक़्फ बोर्ड के चेयरमैन ज़ुफर फारूकी मौजूद थे।