रेल राज्यमंत्री का विरोध करने पर MLA नदीम जावेद गिरफ्तार

जौनपुर, यूपी

ज़िले में एक ओवर ब्रिज का उद्घाटन करने आए रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा का विरोध करने जा रहे जौनपुर सदर विधायक नदीम जावेद को गिरफ्तार कर लिया गया। उनके साथ करीब करीब ढ़ाई सौ कार्यकर्ताओं को भी पुलिस कड़ी मेहनत के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। विधायक नदीम जावेद ने आरेप लगाया है कि इस ओवर ब्रीज के निर्माण का पैसा उन्होंने पहले ही पास कराया था। साथ ही तत्कालीन रेल राज्यमंत्री ने इस ओवर ब्रीज की आधारशिला 18 मार्च 2013 रख दिया था। नदीम जावेद ने सवाल किया कि आखिर ऐसी कौन सी वजह है कि इस फ्लाई ओवर का दोबारा शिलान्यास कराया जा रहा है।

NADEEM ARREST IN JNP 2 160815

पहले से तय कार्यक्रम के मुताबिक जौनपुर सिटी स्टेशन के पास बन रहे ओवर ब्रिज का शिलान्यास करने के लिए आज रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा आ रहे थे। रेल मंत्रालय की तरफ से इस कार्यक्रम की पूरी तैयारी की गई थी। जैसे ही इस कार्यक्रम की सूचना कांग्रेस कार्यकर्ताओं को लगी उन्होंने तुरंत इसकी सूचना शहर विधायक नदीम जावेद को दी। कांग्रेस प्रवक्ता और शहर विधायक नदीम जावेद सीधे दिल्ली से अपने क्षेत्र जौनपुर पहुंचे। कार्यालय पर पहले से ही बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे। नदीम जावेद ने कार्यालय में कार्यकर्ताओं से विचार करने के बाद विरोध करने का फैसला किया और विरोध प्रदर्शन के बारे में कार्यकर्ताओं को दिशानिर्देश जारी किया।

 

तय कार्यक्रम के अनुसार नदीम जावेद ने नगर में अपने कार्यालय पर बारी संख्या में मौजूद कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। नदीम जावेद ने रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा की जमकर आलोचना की। उन्होंने बीजेपी पर घटिया राजनीति करने का आरोप लगाया। इसके बाद विधायक ने कार्यकर्ताओ के साथ कार्यक्रम स्थल की तरफ कुच कर गये। इस बीच पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम कर रखे थे। विधायक और उनके साथियों को रोकने के लिए मोहम्मद हसन पीजी कालेज के पास बैरिकेटिग की गई थी। कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने बैरीकेटिंग को तोड़ते हुए आगे बढ़ गये। इसके बाद पुलिस हरकत में आई और आगे बढ़ रहे कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। विधायक नदीम जावेद समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं को बस में भर कर पुलिस लाइन ले जाया गया।

 

रास्ते भर कांग्रेस कार्यकर्ता पीएम मोदी, बीजेपी और रेल राज्यमंत्री के खिलाफ नारेबाज़ी करते रहे। अपनी गिरफ्तारी के बाद विधायक नदीम जावेद का आरोप लगाया कि ओवर ब्रिज को बनाने के लिए तत्कालीन यूपीए सरकार से उन्होंने सिफारिश करके पास कराया था। इस कार्य के लिए साल 2012-2013 के बजट में धन आवंटित कर दिया था। तत्कालिन रेल राज्यमंत्री अधीर रंजन चैधरी ने 18 मार्च 2013 को जौनपुर आकर शिलान्यास किया था। विधायक ने सवाल उठाया कि आज ऐसी क्या वजह हो गई कि इस ओवर ब्रिज का दोबारा शिलान्यास किया जा रहा है।

विधायक नदीम सहित सभी कार्यकर्ताओ को पुलिस लाईन में रखा गया था जहां बाद में निजी मुचलके पर सभी को रिहा कर दिया गया। इस मौके पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष, विधायक प्रतिनिधि खुर्शीद अनवर, युवक कांग्रेस अध्यक्ष सत्यवीर सिंह, नीरज राय, अनिल अस्थाना सैकड़ों संख्या में कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।