एमआईएम की नज़र पश्चिमी यूपी की तरफ

मुरादाबाद, यूपी

एमआईएम पश्चिमी यूपी में अपनी जड़े मज़बूत करने की कवायद में जुटी है। पार्टी ने आज मुरादाबाद में पश्चिमी यूपी के पदाधिकारियों की समीक्षा मीटिंग की। इसमें पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष समेत कई प्रदेश पदाधिकारियों ने भाग लिया। लखनऊ से मुरादाबाद पहुंचते ही कार्यकर्ताओं में प्रदेश अध्यक्ष का ज़ोरदार स्वागत किया। इसके पहले कल पूर्वी और मध्य यूपी के ज़िलों की समीक्षा मीटिंग लखनऊ में हुई थी।

151115 MIM WEST UP MEETING MOORADABAAD 1

मुरादाबाद के डिप्टीगंज के जन्नत हाउस में पार्टी पदाधिकारियों की मीटिंग हुई। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने इस बाद पश्चिम यूपी के ज़िलों की मीटिंग मुरादाबाद में करने का फैसला किया था। मीटिंग को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कहा कि पार्टी से जुड़े सभी कार्यकर्ता पार्टी को मज़बूत करने की दिशा में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग एमआईएम को धर्म विशेष से जोड़ कर देख रहे हैं, जबकि ऐसा कुछ भी नहीं है। प्रदेश के पंचायत चुनाव में जीते उम्मीदवार मुसलमान नहीं है। ये इस बात का प्रमाण है कि पार्टी से दलित और पिछड़ा वर्ग तेजी से जुड़ रहा है।

प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कहा कि पश्चिम यूपी में पार्टी के ज़िला अध्यक्ष, शहर अध्यक्ष और युवा अध्यक्ष जल्द से जल्द बूथ कमेटियों तक पार्टी का गठन करें और प्रदेश कमेटी को सूचित करें। उन्होंने कहा कि सक्रिय कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ाया जाएगा और निष्क्रिय लोगों को पद से हटा दिया जाएगा। शौकत अली ने कहा कि 2017 के यूपी विधान सभा चुनाव में पार्टी पूरी मज़बूती के साथ लड़ेगी। इसके लिए अभी से तैयारी ज़रूरी है।

इस मौके पर हैदराबाद से खास तौर पर समीक्षा मीटिंग में आए यमीन ख़ान, आज़मगढ़ से ज़िला पंचायत सदस्य कैलाश कुमार गौतम, हामिद संजरी ने भी बैठक को संबोधित किया। बैठक का संचालन पश्चिम उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष आज़ाद सैफी ने किया। मुरादाबाद के ज़िला अध्यक्ष सय्यद इशरत अली ने सभी मेहमानों का इस्तकबाल किया। इस मौके पर साजिद अली, दानिश कुरैशी, अय्यूब हुसैन सैफी, नईम कुरैशी ग़ाज़ी मलिक समेत सौकड़ों लोग मौजूद थे।