मोदी के राज में दहशत में मुसलमान: जस्टिस सच्चर

नई दिल्ली

दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश और सच्चर कमेटी के चेयरमैन रहे जस्टिस राजिंदर सच्चर ने केंद्र सरकार पर ज़ोरदार हमला बोला। जस्टिस सच्चर ने कहा कि पीएम मोदी के राज में देश के मुसलमान दहशत में जी रहे हैं। जस्टिस सच्चर ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस सरकार में मुसलमानों की बेहतरी के बजाय उनमें डर पैदा किया जा रहा है और यही कारण है कि मोदी के पिछले बीस महीने के शासन में मुसलमानों में एक अलग तरह का खौफ नजर आया है।

मुसलमानों को अलग से आरक्षण देने की सिफारिश कर चुके जस्टिस सच्चर ने कहा कि चौंकाने वाली बात यह है कि मुसलमानों के साथ हो रही दोहरी नीति पर मोदी सरकार शर्म महसूस करने की बजाय सुशासन के झूठे दावे कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार इसके लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार है, क्योंकि उसने कभी इसे रोकने के लिए कोई पहल नहीं की। जस्टिस सच्चर कहा कि जब सरकार खुद को इन चीजों से अलग बताती है और इन चीजों को रोकने के प्रयास नहीं करती है तब उसे यह भी मानना चाहिए कि वह निकम्मी और कमजोर है।

जस्टिस सच्चर ने असहिष्णुता के मुद्दे को लेकर भी सरकार के मंत्रियों पर निशाना साधा। उनके मुताबिक जब खुद को हिंदू कहने वाले लोग आमिर खान और शाहरुख खान को मुसलमान होने के कारण देश छोड़ने की नसीहत देते हैं तो उनकी इस हरकत से ही पता चलता है कि देश में कितनी ज्यादा असहिष्णुता है। जस्टिस सच्चर ने कहा कि इन सबसे यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि केंद्र सरकार एक खास धर्म को मानने वालों की सरकार है और उनके अलावा इस देश में रहने का किसी को हक नहीं है, खासतौर पर मुसलमानों को नहीं।