आतंकी अल-बगदादी के चौथी बार मारे जाने का ख़बर

बगदाद, इराक

दुनिया का सबसे खतरनाक मोस्ट वांटेड आतंकवादी और आईएसआईएस का मुखिया अबू बकर अल- बगदादी के मारे जाने की ख़बर हैं। एक न्यूज़ एजेंसी ने ख़बर दी है कि गठबंधन सेना के एक हमले में उसकी मौत हो गयी है। अरब की न्यूज़ एजेंसी अल अमक ने बगदादी की मौत की पुष्टि करते हुए कहा कि इतवार को सीरिया के रक्का शहर में बगदादी गठबंधन सेना के हवाई हमलो में मारा गया। अभीतक गठबंधन सेना ने बगदादी के मारे जानी की पुष्टि नही की है।

मालूम हो कि इससे पहले तीन बार बगदादी के मारे जाने की खबरे आ चुकी है। हर बार ये खबर झूठी निसकी। दरअसल बगदादी का कोई ठिकाना नहीं हैं। वह अमूमन दिखाई नहीं देता। शुरुआत में एक मस्जिद में उसके भाषण देने की एक वीडियो और कुछ फोटोग्राफ मौजूद हैं। इससे पहले भी कई बार बगदादी के गंभीर रूप से घायल होने की खबर आती रही है। मार्च 2015 में भी बगदादी के गंभीर रूप से घायल होने की खबर आई थी। इस हमले में बगदादी के तीन साथी मारे गए थे और बगदादी की रीढ़ की हड्डी में चोट आई थी। उस समय ये भी कहा गया की रीढ़ की हड्डी की चोट की वजह से बगदादी आईएसआईएस की कमान नही संभल पायेगा उसके बाद से उसका कोई पता नहीं है। उसके मारे जाने की खबर पर अभी तक किसी देश ने पुष्टि नहीं की है।

सोमवार को इराकी न्यूज़ चैनल अल-सुमरिया ने सबसे पहले बगदादी के मारे जाने की खबर दी। चैनल ने बताया कि गठबंधन सेना के हवाई हमलो में वह घायल हो गया था। गठबंधन सेना ने ये हमला मोसूल शहर से 65 किमी दूर पश्चिमी दिशा में किया था। गठबंधन सेना को बगदादी के यहाँ छुपे होने की पक्की खबर मिली थी। इराकी न्यूज़ चैनल के मुताबिक इस हमले में बगदादी बुरी तरह से घायल हो गया था। वही अमेरिका या गठबंधन सेना की तरफ से बगदादी के मारे जाने पर कोई अधिकारिक बयान नही आया है।

अबू बकर अल-बगदादी दुनिया के सबसे बड़े आतंकवादी संगठन का मुखिया है। अमेरिका ने अल-बगदादी के ऊपर एक करोड़ डालर का इनाम रखा हुआ है। अल-बगदादी ने 2010 में आईएसआईएस की कमान संभाली थी। 2014 में आईएसआईएस ने बगदादी के नेतृत्व में ईराक और सीरिया के खिलाफ जंग का एलान किया था। इसके बाद इस संगठन ने कई शहरों पर कब्ज़ा कर लिया। आईएसआईएस ने इराक के मोसुल और सीरिया की राजधानी रक्का को अपना बेस स्टेशन बनाया हुआ है।