सऊदी अरब से भारतीय हाजियों की वापसी शुरु

जेद्दाह, सऊदी अरब

सऊदी अरब से हाजियों की अपने मुल्क वापसी शुरु हो गई है। सऊदी अरेबियन एयर लाइन्स ने इसके लिए ख़ास तैयारियां की है। हाजियों की वापसी 27 सितंबर से शुरु हुई, और ये हाजियों के आखिरी जत्थे की वापसी तक जारी रहेगी।

सऊदी अरेबियन एयर लाइन्स के असिस्टेंट जनरल मैनेजर पब्लिक रिलेशन और प्रवक्ता अब्दुल रहमान अल-फहद ने बताया कि मुल्क वापसी के लिए तैयार हाजियों को एयर लाइन्स पूरी क्षमता के साथ सर्विस देने के लिए तैयार हैं। एयर लाइन्स के सभी विंग जैसे ऑपरेशनल सेक्टर, सप्लाई, मैनटेनेंस ने अपनी-अपनी तैयारिया पूरी कर ली हैं। अब्दुल रहमान अल-फहद ने कहा कि ईद-उल-अज़हा की छुट्टी के बाद हाजियों की वापसी का सिलसिला शुरु होता है। एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स की आवाजाही काफी बढ़ जाती है। हमारी कोशिश है कि हम फ्लाइट्स की आवाजाही की मौजूदा संख्या को बढ़ा सकें।

एयर लाइन्स के प्रवक्ता अल-फहद ने बताया कि जेद्दाह से रोज़ 667 फ्लाइट का आवागमन हो रहा है। इनमें 337 घरेलू और 173 अंतरराष्ट्रीय उड़ाने शामिल हैं। इनमें हाजियों के लिए 45 घरेलू और 39 अन्तरराष्ट्रीय उड़ाने भी हो रही हैं। उन्होंने बताया कि अब तक हाजियों को लेकर 200 फ्लाइट उड़ाने भर चुकी हैं। इनमें हाजियों की घरेलू उड़ाने और गल्फ कोऑपरेशन कौंसिल के देशों की उड़ाने शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि 28 सितंबर को सभी स्टेशन से घरेलू, अन्तरराष्ट्रीय और हाजियों की 609 फ्लाइट के उडान भरने की उम्मीद है। एयर लाइन्स प्रवक्ता अल-फहद ने बताया कि सभी हाजियों की फ्लाइसट उनके तय कार्यक्रम के अनुसार ही रवाना होंगी। उन्होंने बताया कि 27 से 30 सितंबर के बीच कुल 2442 फ्लाइट्स उड़ान भरेगी। इनमें 1323 घरेलू, 607 अन्तरराष्ट्रीय और 116 हाजियों की फ्लाइट्स शामिल हैं। अल-फहद ने बताया कि एयर लाइन्स ने इसके लिए सभी ज़रूरी इंतज़ाम कर लिए हैं।

एयर लाइन्स के प्रवक्ता अल-फहद ने बताया की सऊदी अरेबियन एयर लाइन्स के डायरेक्टर जनरल सालेह अल-जासेर ने किंग अब्दुल अज़ीज एयर पोर्ट का दौरा करके सभी इंतज़ामों का बारीकी से जायज़ा लिया। इसके साथ ही उन्होंने तैयारियों की जानकारी हासिल की। उन्होंने एयरपोर्ट पर अधिकारियों से मुलाकात की और ज़रूरी दिशानिर्देश जारी किए।

मालूम हो कि इस साल सऊदी अरेबियन एयर लाइन्स से कुल 3,55,454 लोग हज करने आए थे। इसके लिए एयर लाइन्स ने 1466 अन्तरराष्ट्रीय उड़ाने भरी थी।