आज़मगढ़ के खुदादादपुर गांव भारी बवाल, हालात अब काबू में

आज़मगढ़, यूपी
ज़िले के निजामाबाद इलाके के खुदादादपुर में शाम को भारी बवाल हो गया। पुलिस ने लाठीचार्ज किया है जिसमें करीब एक दर्जन लोगों को चोट आई है। क्षेत्र में अफवाहों का बाज़ार गर्म है। मालूम हो कि आज़मगढ़ मुलायम सिंह यादव का संसदीय क्षेत्र भी है। मुसलमानों ने पुलिस ज्यादती, मारपीट और घरों में घुसने का आरोप लगाया है। पीएनएस को फोन करके कई लोगों ने मदद की गुहार लगाई है। स्थानीय अधिकारियों से संपर्क करने पर कोई जानकारी नहीं मिल रही है। एक खबर के मुताबिक खुदादादपुर में ही डीएम और एसएसपी मौजूद हैं। इसके साथ भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद है। इस इलाके को पूरी तरह से सील कर दिया गया है।

पीएनएस को अभी तक मिली खबर के मुताबिक मुसाफिर नाम का एक दलित जो खुदादादपुर का रहने वाला है। वह शराब के नशे में अक्सर लोगों से मारपीट करता रहता है। मुसाफिर एक हफ्ते पहले नशे की हालत में फरिहां से अपने घर लौट रहा था इसी दौरान ऑटों चालक और उसके बीच विवाद हुआ। ऑटो चालक ने फोन करके अपने कुछ लोगों को बुलाया और इन लोगों की मुसाफिर से मारपीट की। मुसाफिर ने रंजिश में अपने गांव के ही कुछ लड़कों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई।

गांव वालों का आरोप हैं कि आज मुसाफिर पुलिस की मौजूदगी में गांव के प्रधान के बेटे मौ दानिश पर गोली चलाई। वो किसी तरह बच गया। पास में ही वालीबाल खेल दर्जनों लड़कों ने मुसाफिर को दौड़ा लिया। वह तो भाग निकला लेकिन लड़कों ने कुच घरों में तोड़फोड़ की। इसी दौरान भारी संख्या में पुलिस बल आ गया। पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए ज़ोरदार लाठी चार्ज किया। इसमें कई लोग घायल हो गए।

लाठीचार्ज के बाद इलाके में तनाव फैल गया। एमआईएम के ज़िलाध्यक्ष कलीम जामई ने पीएनएस न्यूज़ एजेंसी को बताया कि वह खुदादादपुर जा रहे थे लेकिन डीएम ने उनसे खुदादादपुर न आने की बात कही और कहा कि वो हालात काबू में कर लेंगे। कलीम जामई ने बताया कि अभी कई लोगों के फोन आएं हैं जिसमें बताया गया है कि पुलिस उनके घरों में दरवाज़े तोड़ कर घुस रही है।

इसी दौरान दूसरी तरफ इस घटना के बाद बगल के फरीदाबाद गांव में यादव पक्ष के लोगों ने सड़क पर खड़े होकर लोगों के नाम पूछ-पूछ कर कई मुसलमानों के साथ मारपीट की और उनके वाहन तोड़ डाले। एक हिंदी दैनिक अखबार के रिपोर्टर पर भी हमला किया गया, लेकिन वो किसी तरह बच निकले। उन्होंने इस मामले की जानकारी पुलिस को दी। खबर लिखे जाने तक स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।