कंस को पहचानिए, कन्हैया को बचाइए: आज़म खां

लखनऊ, यूपी

प्रदेश के संसदीय कार्य मंत्री आज़म खां ने पीएम नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि अब तो कन्हैया भी खतरे में हैं। कन्हैया को बचा लीजिए, कंस को पहचान लीजिए। आज़म खां ने कहा कि ये ज़ुबान काटकर, कान फोड़कर गूंगा-बहरा बनाना चाहते हैं। विचारधारा के विपरीत चलने वाले हर पौधे को वह काटना चाहते हैं।

विधान सभा की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के पंकज मलिक, अखिलेश प्रताप सिंह और दूसरे सदस्यों ने बदायूं में भारतीय जनता युवा मोर्चा के ज़िलाध्यक्ष द्वारा जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की जुबान काटकर लाने वालों को ईनाम देने और सम्मान करने का मामला उठाया। इस विधायकों ने कहा कि बीजेपी प्रदेश में दंगा कराना चाहती है। सरकार को इस मामले में फौरन कार्रवाई करनी चाहिए।

बीजेपी सदस्यों ने यह कहते हुए बचाव की कोशिश की कि मामला उठाने वालों को सही जानकारी नहीं है। कांग्रेस के विधायक इस मामले पर काफी देर तक हंगामा करते रहे। इसके बाद कैबिनेट मंत्री आज़म खां ने कहा कि इन बातों से परेशान होने की ज़रूरत नहीं है। कुछ लोगों के पास कोई काम नहीं है। विकास का कोई एजेंडा नहीं है। बात हमसे शुरू हुई थी। पहले मोहम्मद अली और अब कन्हैया खतरे में हैं। इतनी सी बात है कि कन्हैया को बचा लीजिए, कंस को पहचान लीजिए। ज़ुबान बचाकर रखो। जुबान तभी बाहर आएगी जब मुंह खोलेंगे।

आज़म खा ने कहा कि वह इस मामले में कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि एक खास विचारधारा के स्कूलों को फायदा पहुंचाना चाहते हैं। अखबारों में खबर बनाने के लिए वॉकआउट कर रहे हैं। जो इनकी विचारधारा न माने उसकी जुबान काटकर, कान फोड़कर गूंगा-बहरा बना देंगे। अब तो बात कन्हैया तक आ गई है। अपनी विचारधारा के खिलाफ चलने वाले हर किसी को कुचल देना चाहते हैं।