सऊदी अरब, कतर में बारिश से भारी तबाही

रियाद, सऊदी अरब

गल्फ के की मुल्कों में पिछलों दिनों लगातार भारी बारिश से भारी तबाही हुई हैं। सऊदी अरब के कई शहरों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। भारी बारिश के चलते कई जगह पर सड़कों पर पानी भर आया है। कई रिहाएसी इलाके भी इसकी चपेट में हैं। बारिश से जगह-जगह तबाही देखने को मिल रही हैं। सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ ने बाढ़ से उपजे हालात पर अधिकारियों से रिपोर्ट तलब की है।

281115 HEAVY RAIN IN KSA 2

सऊदी अरब के शहर रियाद, जेद्दाह, कस्सीम, अलखोबर समेत दर्जनों शहरों में भारी बारिश हुई है। कई शहरों में बारिश के चलते स्कूल बंद किए गए थे। बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए हेलीकॉप्टर की सेवाएं ली जा रही हैं। भारी बारिश के चलते मौसम काफी ठंडा हो गया है, इसकी वजह से अस्थमा जैसी बीमारियों वाले मरीज़ों को काफी परेशानी हो रही है।

बारिश से सऊदी अरब की राजधानी रियाद शहर में अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है। रियाद प्रांत के रिमाह और क्वायैया शहर में बारिश से सबसे ज़्यादा नुकसान हुआ है। यहां बचाव के लिए सिविल डिफेंस की विशेष टीमें काम कर रही हैं। बाढ़ में फंसे लोगों को निकाल कर कैम्पों में रखा गया है।

भारी बारिश के चलते जेद्दाह शहर में करीब 80 फीसदी इलाके में पानी भर गया है। सड़क, अंडरपास और दूसरे रास्ते में भी बाढ़ का पानी भर गया है। सिविल डिफेंस का कहना है कि करीब 15 सौ लोग ज़मीनी स्तर पर लगातार काम कर रहे हैं, वहीं 5 सौ लोग एयर रेस्क्यू टीम के साथ बचाव कार्य में जुटे हुए हैं।

सऊदी अरब के शहर अल-खोबर में भी बारी बारिश से बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं। अलखोबर के मेयर इसान अल-मुल्ला के मुताबिक शहर के निचले इलाकों में बारिश का काफी पानी जमा हो गया है। मेयर इसान ने बताया की म्यूनिसिपल कारपोरेशन इन इलाकों में 24 घंटे काम कर रहा है।

अल-कस्सीम शहर में भी लगातर भारी बारिश हो रही है। यहां सिविल डिफेंस की मदद के लिए स्कूली स्काउट की सेवाएं ली जा रही हैं। करीब एक हज़ार लोगों को निचले इलाकों से निकाल कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है।

कतर में भारी नुकसान
कतर में भी भारी बारिश हुई हैं। यहां बारिश के चलते कतर की राजधानी दोहा में सड़क, शोरूम से लेकर घरों तक पानी घुस गया है, और लोगों को भारी नुकसान हुआ हैं। अभी हाल में तैयार किए गए दोहा के अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को भी काफी नुकसान पहुंचा है। कतर की सरकार ने ऐसी एजेंसिंयों के सभी लोगों के देश छोड़ने पर रोक लगा दी हैं जिन कंपनियों ने सड़क, कालोनी या अन्य सिविल कंस्ट्रक्शन का काम किया है। दरअसल कतर में 2022 में फीफा वर्ल्ड कप का आयोजन होना है, ऐसे में तैयारियों पर असर पड़ सकता है।

दुबई में बारिश के चलते तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई हैं। गल्फ के कई दूसरे मुल्कों में भी बारिश हुई है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक क्लाईमेट चेंज होने की वजह से ऐसा हो रहा है।