मध्य प्रदेश में सामाजिक सौहार्द की मिसाल! जैन मुनि की समाधि के लिए मुस्लिम शख्स ने दान की जमीन

नीमच,मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश के नीमच जिले में एक मुस्लिम व्यक्ति ने सामाजिक सौहार्द की मिसाल कायम की है। नीमच जिले के सिंगोली कस्बे में एक जैन मुनि की समाधि स्थल के लिए मुस्लिम शख्स ने अपनी जमीन दान में दे दी है। अनुयायियों ने सोमवार को कहा कि जैन मुनि श्री शांतिसागर का गुरुवार को निधन हो गया था।

सिंगोली नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष अशरफ मेव उर्फ गुड्डू की नीमच-सिंगोली रोड पर भूमि का एक हिस्सा धार्मिक मान्यता के अनुसार उनकी समाधि के लिए उपयुक्त पाया गया। हालांकि, स्थानीय जैन समुदाय के सदस्यों ने मुनि के समाधि के लिए इस भूमि के बदले गुड्डू को मुंह मांगे दाम पर जमीन का कुछ हिस्सा देने की पेशकश की, लेकिन उन्होंने इसे लेने से इनकार कर दिया।

‘मेरा सौभाग्य, मेरी जमीन पर बनेगी जैन मुनि की समाधि’
गुड्डू ने कहा, ‘पैसा मेरे लिए मायने नहीं रखता है। यह मेरा सौभाग्य है कि मेरी भूमि पर एक जैन मुनि की समाधि बनेगी। मुझे सिंगोली में सांप्रदायिक सौहार्द और भाईचारे का इतना अच्छा उदाहरण पेश करने के लिए बधाई देने वाले फोन आ रहे हैं।’ जैन सिंगोली समाज के पदाधिकारी मनीष जैन ने बताया कि मुनि श्री शांतिसागर जी को शुक्रवार को पंचतत्व में विलीन किया गया और उनकी समाधि गुड्डू की जमीन पर बनाई गई है।