… तो जौनपुर एसपी 45 लाख लोगों से फोन पर बात करते हैं ?

मीडिया की फोन न उठाने की शिकायत पर एसपी का बेतुका जवाब

जौनपुर, यूपी

ज़िले की पुलिस लाइन में बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया के सवाल पर एसपी राजू बाबू सिंह बेतुका जवाब दिया। उन्होंने कहा कि वह ज़िले के 45 लाख लोगों का फोन उठाते हैं इसलिए वह पत्रकारों के फोन का जवाब नहीं देते। इसके बाद एसपी और पत्रकारों के बीच गरमा-गरम बहस हुई और ज़िले सभी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार प्रेस कांफ्रेस छोड़कर बाहर चले गए।

दरअसल आज ज़िले के पुलिस विभाग ने ही प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था। जैसे ही एसपी राजूबाबू सिंह प्रेस कांफ्रेंस में आए। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकारों ने उनसे पूछा कि जब भी वह फोन करते हैं, उनका फोन नहीं उठता। इसके जवाब में एसपी राजू बाबू सिंह ने कहा कि वह ज़िले की 45 लाख जनता और सत्ताधारी नेताओं का फोन उठाने हैं, इसलिए वह पत्रकारों का फोन नहीं उठाते। साथ ही एसपी ने पत्रकारों की समस्याओं का भी कोई सकारात्मक जवाब नहीं दिया। इससे नाराज होकर सभी न्यूज चैनल के पत्रकार प्रेस कांफ्रेंस को बीच में ही छोडकर बाहर चले गए।

इसके बाद कलेक्ट्रेट परिसर में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की एक आवश्यक बैठक की गई। बैठक की अध्यक्षता कर रहे संघ के अध्यक्ष राजेश श्रीवास्तव ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि जब तक एसपी की तरफ से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की खबरों में सहयोग नहीं दिया जाता तब तक संघ की ओर से विभाग को भी सहयोग नहीं मिलेगा। बैठक संचालन संघ के महामंत्री जावेद अहमद ने किया। इस दौरान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के हसनैन कमर दीपू, राजकुमार सिंह, दीपक श्रीवास्तव, अजीत सिंह, दीपक मिश्रा, राजन मिश्रा, आरिफ हुसैनी, अमित गुप्ता, कुंवर दीपक सिंह, सुधाकर शुक्ला, अरशद अब्बास, मेराज अहमद, अविनाश दुबे समेत कई पत्रकार मौजूद थे।