देशभक्ति के लिए किसी सर्टिफिकेट की ज़रुरत नहीं: वारिस पठान

मुंबई

महाराष्ट्र की विधान सभा से मौजूदा सत्र से बर्ख़ास्त किये गए एमआईएम विधायक वारिस पठान ने अपनी सफ़ाई में कहा है कि हमें देशभक्ति के लिए किसी की सर्टिफिकेट की ज़रूरत है। बारिस पठान ने बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि बीजेपी विधायक राम कदम ने उन्हें सदन में ‘भारत माता की जय’ बोलने की चुनौती दी थी।

बारिस पठान ने कहा कि बीजेपी विधायक राम कदम खड़े हो गए और कहने लगे कि भारत माता की जय बोलो, भारत माता की जय बोलो। इसके जवाब में मैं भी खड़ा होकर बोला कि तुम्हारे बोलने से नहीं बोलूंगा। इसके बाद मैंने हिंदुस्तान ज़िंदाबाद और जय हिंद के नारे लगाए। वारिस पठान ने कहा कि मैंने राम कदम को बोला कि तुम्हारे बोलने से नहीं बोलूंगा।

एमआईएम विधायक वारिस पठान के साथ पूरी पार्टी खड़ी है। उनका कहना था कि बीजेपी और शिवसेना विधायक ज़ोर डालने लगे कि उन्हें यह नारा लगाना ही पड़ेगा। उन्होंने कहा कि वो कहने लगे कि भारत में रहना है तो ‘भारत माता की जय’ बोलना ही पड़ेगा।

वारिस पठान ने कहा कि मैं इस देश का बच्चा हूँ, यहीं पैदा हुआ हूँ और यहीं पर मरूंगा। मुझे अपने वतन से कितनी मुहब्बत है, उसके लिए मुझे किसी की सर्टिफ़िकेट की ज़रूरत नहीं है। एमआईएम विधायक ने कहा कि मुझे आप फ़ोर्स करोगे तो कभी नहीं बोलूंगा, जो आप ज़बर्दस्ती कहलवाना चाहते है।

महाराष्ट्र विधान सभा में हुए इस ताज़ा मामले पर कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। बुद्धिजीवियों का एक वर्ग इसे असहिष्णुता का ताज़ा मामला मान रहा हैं। इनका कहना है कि ऐसे मामले में विधान सभा अध्यक्ष ने सही फैसला नहीं किया।