डीजे और नाच गाने वाली शादियों में ‘निकाह’ नहीं पढ़ाएंगे क़ाज़ी

जयपुर, राजस्थान

राजस्थान में कोटा ज़िले के क़ाज़ी ने कहा है कि मुसलमानों की शादी में डीजे और म्यूजिकल बैंड पर पाबंदी होनी चाहिए। ज़िले के क़ाज़ी अनवार अहमद ने बताया कि इस समय लोगों को ऐसे फैसले करने चाहिए जिससे इस्लाम की पहचान और उसकी सही शिक्षा लोगों को पहुंचे। क़ाज़ी अनवार अहमद ने एलान किया कि वह ऐसी किसी भी शादी में निकाह नहीं पढ़ाएंगे जहां डीजे या नाच-गाने हो रहे हों।

क़ाज़ी अनवार अहमद कोटा और जयपुर के शहर-क़ाज़ी हैं। उन्होंने एलान किया कि फ़ज़ूल खर्ची ग़ैर-इस्लामिक है। उन्होंने ये भी कहा कि वो इस तरह की शादियों में निकाह नहीं करायेंगे। पूरे राजस्थान के क़ाज़ी ख़ालिद उस्मानी ने कहा कि मुसलमानों को फ़ज़ूल खर्ची जैसी ग़ैर इस्लामिक प्रक्रियाओं से बचना चाहिए। इसके साथ ही मुसलामानों को इस बारे में लोगों को जागरूक बनाने की ज़रुरत है।