दिग्विजय का विवादित ट्वीट, भड़के असदुद्दीन ओवैसी

दिल्ली
कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह ने एमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की फोटो को एक साथ ट्वीट किया है। दिग्विजय ने इस ट्‍वी‍ट में एक फोटो लगाया है, जिसमें आधा चेहरा असदुद्दीन ओवैसी और आधा मोहन भागवत का है। उसपर लिखा है दोहरा चरित्र….. शर्म करो। इस ट्वीट के बाद असदुद्दीन ओवैसी ने इसे मुसलमानों की बेइज़्ज़ती करार दिया है। दूसरी तरफ बीजेपी नेताओं ने दिग्विजय सिंह की कड़ी आलोचना की है।
हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी इस ट्वीट को लेकर दिग्विजय सिंह पर भड़क उठे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे समझ नहीं आता कि मेरी आधी तस्वीर के साथ आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की आधी तस्वीर क्यों लगाई गई है। सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मेरी नहीं तो मुसलमानों की तो इज़्ज़त ना उतारो। ओवैसी ने कहा कि इस तरह की बेइज़्ज़ती से बेहतर है कि मैं कब्र में जाना पसंद करूंगा।
असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं कांग्रेस के नेताओं से मैं पूछना चाहूंगा कि आज तक देश में जितने भी दंगे हुए हैं, तब क्या कांग्रेस की हुकूमत नहीं थी। तब क्या सोशल फैब्रिक को नुकसान नहीं पहुंचा। उन्होंने कहा कि जो तुम कहोगे उसका जवाब मिलेगा, जिस तरह चाहोगे उस तरह जवाब मिलेगा। वो वक़्त आएगा जब तुम और गुमनामी में चले जाओगे। उन्होंने कहा कि तेलंगाना में बीजेपी और आरएसएस का मुकाबला सिर्फ एमआईएम ही कर रही है।
मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य कमाल फारुकी ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की निंदा की है। उन्होंने कहा कि दिग्विजय को ये तस्वीर शेयर नहीं करनी चाहिए थी। दिग्विजय सिंह कोई रिपोर्टर नहीं हैं, उन्हें ऐसी तस्वीरों से गुरेज करना चाहिए। कमाल फारूकी ने सवाल किया कि दिग्विजय सिंह बताएंगें कि क्या आगे कांग्रेस असदुद्दीन ओवैसी के साथ नहीं जाएंगी।
दूसरी तरफ यूपी बीजेपी यूपी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने कहा कि दिग्विजय सिंह अपना वजूद बचाने के लिए ऐसी हरकतें कर रहे हैं। उन्होंने इसे सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल बताया। वाजपेयी ने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए।