गोरक्षकों के आतंक: अधिकारियों से मिले सामाजिक कार्यकर्ता

नई दिल्ली

दिल्ली के बाहरी इलाके के कंझावला थाना क्षेत्र में पिछले दिनों मदरसा रहीमिया के टीचर, छात्र और खादिम को साज़िश करके क़ुर्बानी के कचरे को गाय का मांस बताकर बेरहमी से पीटा गया था। हमले में शामिल लोगों पर आरोप लगा था कि वह आरएसएस से जुड़े हुए हैं और गो-रक्षक के तौर पर इस घटना को अंजाम दिये हैं। इस वारदात के बाद अबतक पुलिस मास्टरमाइंड को गिरफ्तार नही कर पाई है।

इसी मुद्दे पर दिल्ली के सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ता कंझावला पुलिस स्टेशन पहुंचे। वहां उन्होंने पुलिस अधिकारियों से मुलाकात की। अधिकारियों से मुलाकात के दौरान सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं ने पुलिस अधिकारी धर्मवीर सिंह के सामने अपनी बात रखी और घटना में शामिल दोषियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की।

दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के सलाहकार डॉ फ़हीम बेग ने कहा कि पिछले दिनों पीएम नरेंद्र मोदी ने इन आतंकी गोरक्षकों से कहा था कि अगर मारना है तो मुझे मारो, लोगो को नहीं। इसके बावजूद यह आतंकी कानून का माखौल बनाते हुए कानून को अपने हाथ में लेकर मासूमों को निशाना बना रहे हैं। इस मामले में पुलिस कुछ नही कर पा रही है। डॉ फ़हीम बेग ने कहा कि इस मामले में पुलिस की लापरवाही से ऐसे खतरनाक लोगों को बल मिलता है। ये मुल्क के लिए ठीक नहीं है।

मौलाना अब्दुल समी ने कहा कि पिछले साल भी इस तरह की वारदात हुई थी इसके बावजूद भी दिल्ली पुलिस ने सतर्कता नही अपनाई। ये बहुत ही संगीन मामला है और जिन दो लोगों पर हमला किया गया है वह ज़िन्दगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं। समाज सेवी अब्दुल वाहिद ने भी मामले की गंभीरता की ओर पुलिस अधिकारी का ध्यान दिलाते हुए कहा कि बेरहमी से पीटे गए पीड़ित को जबरन लोक नायक अस्पताल से छुट्टी दिलाने की साज़िश हो रही है ताकि मामले को कमज़ोर किया जा सके। इसलिए पुलिस को अपने कर्तव्य का पालन करना चाहिए।

सामाजिक कार्यकर्ताओं के प्रतिनिधि दल में मौलाना लुकमान, इलियास, सलीम, मौलाना वसीम, हाजी वसीम सैफी, मोहम्मद मेहरबान, लियाक़त इदरीसी, डॉ इरशाद शैख़ समेत कई लोगों ने पुलिस अधिकारी के सामने अपनी बात रखी।

मौके पर मौजूद एसएचओ धर्मवीर सिंह ने कहा इस वारदात को लेकर पुलिस विभाग बेहद संजीदा है और पूरी ज़िम्मेदारी के साथ अपना काम कर रहा है। एसएचओ ने कहा कि पुलिस ने बारदात वाले दिन भी पूरी मुस्तहदी से ही से अपना काम किया था। पुलिस अधिकारी ने भरोसा दिलाया कि इस मामले में शामिल सभी अपराधियों को जल्द गिराफ्तार किया जाएगा।