शहीद एसओ के घर पहुंचे कांग्रेस नेता सिराज मेंहदी

मोहम्मद शारिक ख़ान

जौनपुर, यूपी
कांग्रेस के यूपी अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन सिराज मेंहदी मथुरा की घटना में शहीद हुए जौनपुर ज़िले के जांबाज एसओ संतोष यादव के घर पहुंचें। शहीद एसओ का घर ज़िले के गांव केवटली में है। पूर्व एमएलसी हाजी सिराज मेंहदी ने पहुंचकर परिजनों को सांत्वना दी और उन्हें ढांढस बंधाया।

इस मौके पर हाजी सिराज मेंहदी ने कहा कि जिस साहस और शौर्य के साथ एसओ संतोष यादव ने अपनी कर्तव्यनिष्ठा निभाते हुए अपने प्राणों की आहुति दी है, उनकी इस अतुलनीय जांबाजी को देश हमेशा याद रखेगा।

सिराज मेंहदी ने मांग की है कि अमर शहीद संतोष यादव के घर जाने वाली सड़क बंदवा रोड को उनके नाम पर रखी जाय। सके साथ ही शहीद एसओ की आदमकद प्रतिमा की भी स्थापना करायी जाय, ताकि उनकी शहादत को आने वाली पीढ़ी भी जान सके। इसके साथ ही उन्होंने मांग की है कि संतोष यादव की पत्नी को एक करोड़ रूपये आर्थिक मदद तत्काल उपलब्ध करायी। शहीद के बच्चों और परिवार के भरण पोषण के लिए संतोष यादव के पद के समकक्ष उनकी पत्नी को सरकारी नौकरी प्रदान की जाय। साथ ही उनके दो छोटे-छोटे बच्चों को राज्य सरकार पूरी शिक्षा-दीक्षा सरकारी खर्च पर कराये।

सिराज मेंहदी ने कहा कि बीजेपी इस घटना की सीबीआई जांच कराकर इसका श्रेय लेना चाहती है। समाजवादी पार्टी सरकार पर भी इस घटना को लेकर शक है, क्योंकि इस घटना के मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव से समाजवादी पार्टी के नेताओं से गहरे सम्बन्ध थे। यदि ऐसा न होता तो इतने समय तक इतनी बड़ी जमीन पर जिस प्रकार उन्होंने कब्जा कर रखा था और पूरा साम्राज्य कायम कर रखा था। हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद भी क्यों नहीं खाली कराया गया। इसलिए इस घटना की निष्पक्ष जांच हाई कोर्ट के किसी कार्यरत जज से करायी जाय, ताकि दोषियों को सख्त सजा मिल सके।

अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष सिराज मेंहदी के साथ जौनपुर के पूर्व अध्यक्ष और प्रदेश कांग्रेस के सचिव राजेश सिंह, कांग्रेस नेता ब्रजेश मिश्रा, आफताब आलम समेत कई लोग मौजूद थे।