कांग्रेस ने मेरे साथ बहुत नाइंसाफी की: मारूफ खान

लखनऊ, यूपी

कांग्रेस से बागी हुए प्रदेश महासचिव और लखनऊ मध्य से पार्टी के उम्मीदवार मारूफ खान ने कहा है कि उनके साथ लगातार नाइंसाफी की जा रही है। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि पिछले तीन चुनावों में वह मैदान में उतरे और हर बार उन्हें बैठा दिया गया। मारूफ खान ने कहा कि वह कांग्रेस के सच्चे सिपाही है और इस बार चुनाव में जीत दर्ज करके अपने आलाकमान का सम्मान बढ़ाएंगे।

अपने चुनाव कार्यालय राजधानी लखनऊ के कैसरबाग में मीडिया से मारूफ खान मुखातिब हुए। चेहरे पर दर्द लिए मारूफ खान ने पत्रकारों के हर सवाल का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी हाईकमान के कहने के बाद ही उन्होंने चुनाव की तैयारी शुरु की थी। मारूफ खान ने कहा कि साल 2007 और 2012 में भी उन्होंने चुनाव लड़ने की तैयारी की थी लेकिन तब भी मेरा टिकट काट दिया गया था। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस के सच्चे सिपाही हैं और वह कांग्रेस में ही रहेंगे। राहुल गांधी और सोनिया गांधी की तारीफ करते हुए मारूफ खान ने कहा कि वह पार्टी को जीत का तोहफा देंगे।

मारूफ खान ने कहा कि लखनऊ मध्य में मौजूदा विधायक से जनता बेहद नाराज़ है। पिछले पांच साल में यहां विकास का काम नहीं हुआ है। जनता लगातार शिकायत कर रही है और हमारे साथ है। ऐसे में हमारा चुनाव से हटने का कोई सवाल ही नहीं बनता। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पार्टी की तरफ से अभी तक कोई बात नहीं हुई है और उन्हें खबरों के माध्यम से ये बात पता चली है।

सपा-कांग्रेस गठबंधन को लेकर भले ही पार्टी के नेता मीडिया में बड़े-बड़े दावे कर रहे हो लेकिन स्थानीय स्तर पर कोई कोऑर्डिनेशन नज़र आ रहा है। दोनों पार्टियों के नेता दबी ज़ुबान में स्वीकार कर रहे हैं कि लोकल लेवल पर जल्द ही समस्या को नहीं सुलझाया गया तो गठबंधन को नुकसान हो सकता है।

कांग्रेंस हाईकमान के फैसले को मारूफ खान ने दिखाया ठेंगा