सीएम योगी ने पेश किया 5 साल का रिपोर्ट कार्ड, कहा- यूपी को बनाया दूसरी सबसे बड़ी इकॉनमी

यूपी विधानसभा चुनाव में पूरी ताकत झोंक चुके राजनीतिक दल अपने-अपने ढंग से मतदाताओं को आकर्षित करने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। इस बीच आज सीएम योगी आदित्‍यनाथ लखनऊ में अपनी सरकार का पिछले पांच साल का रिपोर्ट कार्ड पेश कर रहे हैं। इस मौके पर सीएम ने कहा कि उनकी सरकार ने पांच वर्षों में वो कर दिखाया है जो पिछले 70 वर्षों में नहीं हुआ। इन पांच वर्षों में यूपी देश की दूसरी सबसे बड़ी इकॉनमी बन गया है। सीएम ने कहा कि प्रदेश में 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को कोरोना वैक्‍सीन दी जा चुकी है। 70% से अधिक लोगों ने कोरोना की दोनों डोज़ लगवा ली है। 60 साल से ऊपर के 15 लाख़ 38 हज़ार 992 लोगों ने प्रीकॉशन डोज़ लगवा ली है।

उन्‍होंने बताया कि 15 से 17 वर्ष के 1 करोड़ 67 लाख़ 281 युवाओं ने पहली डोज़ ले ली है। कुल मिलाकर 26,48,06,934 वैक्सीन की डोज़ अब तक उत्तर प्रदेश में दी जा चुकी है। सरकार दो साल से कोरोना से जंग लड़ रही है। उन्‍होंने कोरोना काल में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों जैसे कोटा और अन्‍य शहरों में फंसे प्रतियोगी छात्रों, कामगारों-श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने की व्‍यवस्‍था, खाद्यान्‍न वितरण, कम्‍युनिटी किचेन आदि का उल्‍लेख किया।

सीएम ने कहा कि यूपी में पुलिस सुधार की कभी उम्‍मीद भी नहीं की जाती थी लेकिन उनकी सरकार ने जहां बड़े पैमाने पर नई भर्तियां कीं वहीं पुलिस व्‍यवस्‍था को सुदृढ़ करने के लिए कई प्रभावी कदम उठाए। सीएम ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में यूपी में न तो कोई आतंकी घटना हुई और न ही कोई दंगा हुआ। विभिन्‍न प्रकार के अपराधों में उल्‍लेखनीय कमी आई। डेढ़ सौ से ज्‍यादा अपराधी मुठभेड़ में मारे गए और साढ़े तीन हजार से ज्‍यादा अपराधी घायल हुए। पूर्ववर्ती सरकारों पर हमला बोलते हुए सीएम ने बसपा और सपा के कार्यकाल में हुए दंगों के आंकड़े पेश किए और कहा कि 2017 से पहले प्रदेश अराजकता का शिकार था। पुलिस का इस्‍तेमाल व्‍यक्तिगत स्‍वार्थों की पूर्ति के लिए किया जाता था।

सरकार के पांच साल के रिपोर्ट कार्ड को पेश किए जाने के दौरान सीएम योगी के साथ प्रदेश के दोनो डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, डा.दिनेश शर्मा और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर भी मौजूद हैं। इस मौके पर कार्यक्रम की शुरुआत यूपी चुनाव के लिए बीजेपी के थीम सॉन्ग ‘यूपी में योगी…’ को रिलीज करने के साथ की गई। इसके साथ ही यूपी सरकार के 5 साल के कामकाज को प्रस्तुत करती एक लघु फिल्म (Yogi Govt Report Card) भी दिखाई गई।