मायावती बनीं बीजेपी, किसी मुसलमान को टिकट नहीं

लखनऊ, यूपी

बीएसपी प्रमुख और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने राज्य सभा की दो और विधान परिषद की तीन सीटों के उम्मीदवार के नामों का एलान कर दिया। मायावती ने इन पांच सीटों में किसी मुस्लिम को टिकट नहीं दिया है। दलित मुस्लिम और सेक्यूलर होने का दावा करने वाली बीएसपी ने मुसलमानों के साथ बेरुखी अपनाई। पार्टी की दिल्ली में हुई बैठक में ये फैसला लिया गया।

बीएसपी प्रमुख मायावती की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में राज्य सभा की दो सीट के लिए सतीश चन्द्र मिश्रा और अशोक सिद्धार्थ (फर्रुखाबाद) को उम्मीदवार बनाया है। वहीं विधान परिषद की तीन सीट के लिए अतर सिंह राव (मेरठ), दिनेश चंद्रा (सुल्तानपुर) और सुरेश कश्यप (गाजियाबाद) को टिकट मिला है। पार्टी की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में न उम्मीदवारों की जातियों के बारे में भी लिखा गया है।

पार्टी की प्रेस रिलीज में ये भी कहा गया है कि इससे पहले विधान परिषद के लिए नसीमुद्दीन सिद्दीकी (बांदा) और ठाकुर जयवीर सिंह (अलीगढ़) को विधान परिषद भेजा जा चुका है। इसका मतलब साफ है कि बीएसपी को ये पता था कि उसकी इस लिस्ट पर सवाल ज़रूर उठेंगे। 2017 में होने वाले विधान सभा चुनाव के मद्देनज़र बीएसपी की नज़र मुस्लिम वोटरों पर टिकी है। ऐसे में पार्टी के ये फैसला उसकी उम्मीदों पर पानी फैर सकता है।

मालूम हो कि इससे पहले सपा ने भी 7 सीटों में एक भी मुस्लिम को टिकट नही दिया था जबकि विधान परिषद के लिए बुक्कल नवाब को टिकट दिया है। इसमें बुक्कल नवाब पर वक्फ की जमीनों के हड़पने का कई केस चल रहा है। दूसरी तरफ विरोध के बावजूद सपा ने अभी तक टिकट नहीं बदला है।