जौनपुर: करोड़ो की ज़मीन पर नज़र, BJP नेता के गुर्गों ने किया जानलेवा हमला

जौनपुर, यूपी

शाहगंज के पूर्व चेयरमैन और वरिष्ठ बीजेपी नेता ओम प्रकाश जायसवाल पर बड़ा आरोप लगा हैं। दरअसल पूर्व चेयरमैन के गुर्गों ने बुधवार को खेतासराय कस्बा के गोला बाजार में एक विवादित मकान पर कब्ज़ा करने की नियत से पहुंचे। इस बीच मकान में रह रहे परिवार ने जब विरोध किया तो गुर्गों ने परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया। दिनदहाड़े हुई इस वारदात से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। दुकानदार अपनी दुकानों को बंद करने लगे।

हमलावरों ने की दिनदहाडें वारदात
दरअसल खेतासराय कस्बे के गोला बाज़ार में प्रसिद्ध व्यापारी राधेश्याम जयसवाल उनकी पत्नी उनके दो बेटे और बहू रहते हैं। इस मकान पर कब्ज़ा करने की नीयत से बीजेपी नेता ओम प्रकाश जायसवाल के गुर्गों ने धारदार हथियार से पूरे परिवार पर हमला बोल दिया। अचानक हुए इस हमले से घबराए व्यापारी नेता राधेश्याम की दो बहुएं और छोटे-छोटे बच्चों जब ने विरोध किया तो हथियारों से लैश हमलावर और उग्र हो गए। इन गुर्गों ने सत्ता शासन की हनक दिखाते हुए दिनदहाड़े खुलेआम सभी लोगों को पटक-पटक कर खूब मारा पीटा। इसके बाद बाज़र में भगदड़ मच गई। इसी बीच गुर्गे यहां से निकल गए। जाते समय गुर्गों ने धमकी दी कि ये सरकार हमारी है। हम भाजपा के लोग हैं। पुलिस हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकती।

भीड़ वाले बाज़ार में हुए हमले से मची सनसनी
अचानक बाज़ार में हुए इस घटनाक्रम से पूरे इलाके में दहशत फैल गई। सभी दुकानदारों ने धड़ाधड़ अपनी दुकानें बंद कर दी। कई ग्राहक इधर उधर भागने लगे। दहशत का आलम ये था कि कोई भी इन हथियारों से लैश गुंडों को रोकना तो दूर करीब भी नहीं गया। ये गुर्गे बड़े आराम से वहां से निकल गए।

बच्चों और महिलाओं समेत दर्जऩों घायल
इस हमले में राधेश्याम जायसवाल पुत्र स्वर्गीय राम नारायण जायसवाल 64 साल, घायल हो गए। उनकी पत्नी सावित्री जयसवाल 60 साल भी घायल हो गई। राधेश्याम के दो बेटे विनोद विवेक और दो बहुए पूजा जायसवाल और निगम जयसवाल के साथ ही 12 वर्षीय पुत्री आरुषि और 11 वर्षीय पुत्र राज समेत परिवार के दर्जन भर लोग चोटिल हो गए।

मौके पर काफी देर से पहुंची पुलिस
हमलावर के जाने के बाद पीड़ित पक्ष ने थाने पहुंचकर आप बीती सुनाई। इसके बाद भी इस मामले में पुलिस ने शाम तक कोई एक्शन नहीं लिया। इस मामले में अभी हाल ही में खेतासराय थाने के नये एसओ और पुलिस की भूमिका संदिग्ध लग रही है। इस संबंध में थानाध्यक्ष यजूवेंद्र सिंह ने इस पूरे प्रकरण में अनभिज्ञता जताई और कुछ भी जानकारी साझा करने से मना कर किया।

क्या है मामला
रअसल झगड़े का मुख्य वजह खेतासराय में प्रसिद्ध मार्केट गोला बाज़ार की एक विवादित जगह हैं। जहां 100 वर्ष से भी अधिक समय से ऐतिहासिक रामलीला श्री राम कथा समेत कई धार्मिक आयोजन होता है। सैकड़ों करोड़ से अधिक की इस संपत्ति को भाजपा नेता ओम प्रकाश जायसवाल ने बेहद कम दाम पर अपने नाम रजिस्ट्री कराने का दावा किया है। वहीं राधेस्याम जायसवाल जो की स्वामीनारायण संप्रदाय से हैं। उन्होंने इस जमीन पर आपना दावा जताया है। इस संबंध में उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं को भी पत्र लिखकर ओम प्रकाश की शिकायत की है। इसी में राधेश्याम जायसवाल भी कई वर्षों से रहते हैं।

मामला न्यायालय में लंबित
इस भूमि विवाद का विवाद पिछले कई वर्षों से चल रहा है। इसका मुकदमा सिविल कोर्ट जौनपुर और इलाहाबाद उच्च न्यायालय में लंबित है। घायल व्यापारी राधेश्याम जयसवाल का कहना है कि उच्च न्यायालय से इस मामले में स्थगन आदेश जारी हुआ है। इसके बावजूद भाजपा नेता एवं पूर्व चेयरमैन ओमप्रकाश जायसवाल के गुर्गे पिछले कई महीनों से उन्हें फोन पर दुकान व मकान खाली करने की धमकी दे रहे थे। इसका उन्होंने विरोध किया तो बुधवार को दोपहर 1:00 बजे भाजपा नेता के गुर्गे हथियारों से लैस होकर हमला बोल दिए।